शहीद-ए-आजम भगत सिंह 'शहीद' नहीं

नई दिल्ली| WD|
हमें फॉलो करें
FILE
नई दिल्ली। आजादी के लिए अपनी जान की आहूति देने वाले शहीद-ए-आजम को भारत सरकार शहीद नहीं मानती है। इसका खुलासा आरटीआई एक्ट के तहत हुआ है।


पिताजी के नाम भगतसिंह का पत्र
बलिदान से पहले साथियों को अंतिम पत्र
बलिदान से पहले साथियों को अंतिम पत्र
23 मार्च 1931 का वह मार्मिक मंजर
भगत सिंह की फांसी पर तत्कालीन प्रतिक्रिया

याद आते हैं आज भी भगतसिंह से आरटीआई के तहत मांगी गई जानकारी में इसका खुलासा हुआ है। आरटीआई के तहत जानकारी में गृह मंत्रालय ने कहा है कि ऐसा कोई रिकॉर्ड नहीं है जिससे भगत सिंह को शहीद माना जाए।

देखें : भगतसिंह पर राजशेखर व्यास की विशेष प्रस्तुति इंकलाब : भगत सिंह पर आधारित वृत्तचित्र-1

गृह मंत्रालय के इस जानकारी से भगत सिंह का परिवार नाराज है। परिवार ने इसके लिए कैंपेन लांच करने की तैयारी कर ली है। भगत सिंह को शहीद का दर्जा दिलाने के लिए भगत सिंह का परिवार राष्ट्रपति से भी मिलेगा। अगले पेज पर... भगतसिंह से जुड़ा एक मार्मिक प्रसंग....



और भी पढ़ें :