डीजल के दाम बढ़े, एलपीजी सिलेंडर सस्ता

नई दिल्ली| भाषा|
हमें फॉलो करें
FL
नई दिल्ली। सरकारी पेट्रोलियम कंपनियों ने गैर सब्सिडीशुदा का दाम प्रति सिलेंडर 107 रुपए घटा दिया है, पर के दाम में शुक्रवार को 50 पैसे प्रति लीटर की वृद्धि की गई है।


हालांकि के दाम में कोई बदलाव नहीं किया गया है। मूल्यों में यह वृद्धि शुक्रवार मध्यरात्रि से प्रभावी हो गई है और इस पर स्थानीय बिक्री कर या वैट अलग से लगेगा। अंतरराष्ट्रीय मूल्यों में कमी के कारण गैर-सब्सिडी वाले रसोई गैस सिलेंडर (एलपीजी) के दाम में 107 रुपए प्रति सिलेंडर की कटौती की गई। ग्राहकों को एक साल में सब्सिडी वाले 12 सिलेंडर का कोटा खत्म होने के बाद बाजार दर पर सिलेंडर लेना होता है।
दिल्ली में डीजल का दाम कर सहित 57 पैसे प्रति लीटर बढ़कर 54.91 रुपए प्रति लीटर हो गया है जबकि मुंबई में यह मौजूदा 62.60 रुपए प्रति लीटर से बढ़कर 63.23 रुपए हो गया है।


यह कदम पिछले साल जनवरी में सरकार के उस फैसले के अनुरूप है जिसमें डीजल के दाम में हर महीने तब तक 50 पैसे तक प्रति लीटर बढ़ाने का निर्णय किया गया था, जब तक ईंधन पर होने वाला नुकसान खत्म नहीं हो जाता और यह बाजार भाव के स्तर नहीं आ जाता।

दाम बढ़ाए जाने की घोषणा करते हुए ने कहा कि पिछले जनवरी से यह 13वां मौका है जब डीजल के दाम बढ़ाए गए हैं। इसके बावजूद तेल कंपनियों को डीजल बिक्री पर 9.24 रुपए प्रति लीटर का नुकसान हो रहा है।
अधिकारियों ने कहा कि पेट्रोल की दरों में कोई बदलाव नहीं किया गया है और यह दिल्ली में मौजूदा भाव 72.43 रुपए प्रति लीटर पर उपलब्ध होगा। बिना सब्सिडी वाले 14.2 किलो का रसोई गैस सिलेंडर का दाम घटा दिया गया है। इसके तहत दिल्ली में इसका दाम अब 1134 रुपए होगा जो पहले 1241 रपए था।

उल्लेखनीय है कि साल की शुरुआत में गैर-सब्सिडी वाले एलपीजी की दरों में 220 रुपए प्रति सिलेंडर की वृद्धि की गई थी लेकिन अंतरराष्ट्रीय बाजारों में दाम नरम होने पर इसकी कीमत घटाई गई है।
आईओसी ने कहा कि 14.2 किलो के पर नुकसान 762.50 रुपए से घटकर 656 रुपए पर आ गया है। इससे पहले, चार जनवरी को डीजल का दाम 50 पैसे बढ़ाया गया था। पिछले साल जनवरी से अब तक डीजल के दाम में कुल मिलाकर 7.76 रुपए प्रति लीटर की वृद्धि की जा चुकी है।
आईओसी ने बयान में कहा, मौजूदा वृद्धि के बाद भी कंपनियों को खुदरा डीजल बिक्री पर 7.40 रुपए प्रति लीटर का नुकसान होगा। डीजल के अलावा आईओसी को सार्वजनिक वितरण प्रणाली के जरिए की बिक्री पर 35.76 रुपए प्रति लीटर का नुकसान हो रहा है। (भाषा)



और भी पढ़ें :