परेड देख भावविभोर हुईं शिनावात्रा

PIB
एमआई हेलीकॉप्टर जब आकाश से पुष्प की पंखुरियां बिखेर रहे थे तब शिनावात्रा एकटक उसे निहार रही थी। थाईलैंड एवं अन्य देशों से आए विदेशी मेहमान भी अपने आश्चर्य को नहीं छिपा पा रहे थे।

विभिन्न स्कूल के बच्चे जब देश की संस्कृति और विकास की झलकियां पेश कर रहे थे तब थाईलैंड की प्रधानमंत्री ने ताली बजाकर उनका स्वागत किया।

विभिन्न राज्यों की सांस्कृतिक झलकियों को देखने के बाद थाईलैंड की प्रधानमंत्री अपनी उत्सुकता छिपा नहीं पा रही थी। इस बाबत वह समय समय पर कुछ पूछती रहीं। भारत के 63वें गणतंत्र दिवस की मुख्य अतिथि थाइलैंड की युवा प्रधानमंत्री यिंगलक शिनावात्रा शानदार राजपथ पर आज हुई भव्य परेड के खुबसूरत पलों को अपने मोबाइल कैमरे में कैद करती नजर आई।

परेड के आरंभ में जैसे ही भारतीय वायुसेना का बैंड सलामी मंच के सामने आया यिंगलक शिनावात्रा मंत्रमुग्ध हो गई। बैंड की मोहक धुनों के बीच थाईलैंड की प्रधानमंत्री ने अपने मोबाइल कैमरे से इस मनमोहक दृश्य की रिकॉर्डिग की।

सीमा सुरक्षा बल के उंट दस्ते और उंट बैंड ने देश की सर्वोच्च सैन्य कमांडर राष्ट्रपति प्रतिभा पाटिल को जब सलामी दी तो रंग बिरंगे कपड़ों में सजे धजे रेगिस्तान के जहाज कहे जाने वाले इन उंटों ने थाई प्रधानमंत्री का मन मोह लिया। वह देर तक इसे अपने कैमरे में कैद करती रहीं। रेगिस्तान के जहाजों को हैरत से देखते हुए शिनावात्रा को इस बारे में हामिद अंसारी से कुछ पूछते भी देखा गया।

सफेद रंग की जैकेट और क्रीम रंग की स्कर्ट पहने थाई प्रधानमंत्री यिंगलक पश्चिम बंगाल, महाराष्ट्र समेत कई मनमोहक झाकिंयों को अपने कैमरे में कैद करती नजर आईं। महाराष्ट्र की झांकी आने पर वह उस राज्य से संबंधित राष्ट्रपति प्रतिभा पाटिल से बातचीत करती दिखीं।

लड़ाकू विमानों ने जब आसमान में राष्ट्र ध्वज के रंगों को बिखेरा तब राजपथ पर तीन रंग के समंदर में शिनावात्रा एकटक आकाश का निहारती नजर आईं।

नई दिल्ली| भाषा|
राष्ट्रपति भवन से शुरू हो कर मंथर गति से बढ़ते राष्ट्रपति प्रतिभा देवीसिंह के काफिले के साथ की प्रधानमंत्री यांगलिक शिनावात्रा जब सलामी मंच पहुंची तो के दोनों ओर उमड़े देशप्रेम से ओत प्रोत जनसैलाब को देखकर भाव विह्वल हो उठीं।भारत के 63वें गणतंत्र दिवस समारोह में मुख्य अतिथि शिनावात्रा ने सलामी मंच से हाथ जोड़कर उपस्थित लोगों का अभिवादन किया। पूरी परेड के दौरान मंच पर शिनावात्रा को अपने साथ बैठे उपराष्ट्रपति हामिद अंसारी से कई बार कुछ पूछते देखा गया।
थाईलैंड की पहली महिला प्रधानमंत्री पिछले 63 साल में दुनिया की तीसरी ऐसी महिला राजनेता हैं जो गणतंत्र दिवस की परेड का गवाह बनीं हैं। महारानी एलिजाबेथ द्वितीय 1961 में मुख्य अतिथि थीं जबकि श्रीलंका की प्रधानमंत्री श्रीमाओ भंडारनायके वर्ष 1974 में इस मौके की शोभा बढ़ा चुकी हैं। (भाषा)



और भी पढ़ें :