सिंह, सोनिया, प्रणब ने बजट को सराहा

नई दिल्ली| भाषा| पुनः संशोधित शुक्रवार, 25 फ़रवरी 2011 (16:18 IST)
हमें फॉलो करें
प्रधानमंत्री मनमोहनसिंह, कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गाँधी और सदन के नेता प्रणब मुखर्जी ने लोकसभा में वर्ष 2011-12 का पेश करने के बाद रेल मंत्री ममता बनर्जी को जहाँ बधाई दी और उनकी पीठ थपथपाई वहीं विभिन्न दलों के सदस्यों ने ‘दीदी दीदी’ कहकर उन्हें घेर लिया।


ममता ने काफी टोकाटोकी के बीच करीब सवा 12 बजे अपना रेल बजट पढ़ना शुरू किया और उनका बजट भाषण करीब पौने दो घंटे चला। इस दौरान उन्हें विपक्षी राजग के सदस्यों के विरोध का सामना करना पड़ा।

जैसे ही भाषण समाप्त हुआ, सोनिया गाँधी ने खड़े होकर ममता की पीठ थपथपाई। इसी बीच विभिन्न दलों के सदस्यों ने ममता बनर्जी को ‘दीदी, दीदी’ कहते हुए घेर लिया और अपनी-अपनी माँगों के संबंध में पर्चियाँ थमाने लगे।

इस दौरान प्रणब दा ने भी आकर ममता की पीठ थपथपाई और उन्हें बधाई दी। भाजपा के वरिष्ठ नेता हरेन पाठक भी ममता को बधाई देने पहुँचे और सबसे पहले उन्होंने ही दीदी की पीठ थपथपाई।


इसी शोरशराबे के बीच सोनिया गाँधी ने ममता का ध्यान प्रधानमंत्री की ओर दिलाया जो रेल मंत्री को बधाई देने के लिए अपनी सीट से उठकर आगे आए थे और सदस्यों के पीछे खड़े थे।
सोनिया गाँधी ने सदस्यों की माँगें सुनने में व्यस्त ममता का ध्यान कांग्रेसी सदस्य राज बब्बर की ओर भी दिलाया और रेल मंत्री से कहा कि इनकी बात भी सुनो। राज बब्बर भाषण के बीच में अपने क्षेत्र की उपेक्षा किए जाने से आक्रोशित हो गए थे।

इस बीच सोनिया ने अपनी माँगें लेकर उमड़े सदस्यों से कहा भी, अरे आराम से, आराम से। सदन में यह नजारा कार्यवाही स्थगित होने के बाद का था। कई मिनट बाद सोनिया गाँधी ने सदस्यों से घिरी ममता बनर्जी का बचाव करते हुए कहा, अब उन्हें जाने दीजिए। (भाषा)



और भी पढ़ें :