रामदेव पर हमला व्यक्तिगत या नीतिगत?

उमा का सोनिया से सवाल

भोपाल| भाषा|
हमें फॉलो करें
FILE
कांग्रेस के निशाने पर आए का बचाव करते हुए पूर्व मुख्यमंत्री उमा भारती ने कहा कि सोनिया गाँधी को बताना चाहिए कि बाबा रामदेव पर हमला व्यक्तिगत है या फिर नीतिगत।


उमा ने कहा कि कांग्रेस की ओर से बाबा रामदेव पर यदि यह नीतिगत हमला है तो सोनिया गाँधी को भी अपनी सम्पत्ति का खुलासा करना चाहिए और यदि यह नीतिगत हमला नहीं है तो उन्हें हमला करने वालों पर कार्रवाई करना चाहिए, क्योंकि इससे पहले मुंबई हमलों में शहीद हेमंत करकरे संबंधी बयान पर कांग्रेस को शर्मिदगी झेलनी पड़ चुकी है।

उमा भारती ने दावा करते हुए कहा कि कुछ विदेशी समाचार पत्रों और पत्रिकाओं में सोनिया गाँधी के विदेशों में खाते होने के खुलासे किये गये हैं, जबकि इस मामले में सोनिया गाँधी मौन है और उन्होंने इन पत्र पत्रिकाओं को कोई नोटिस भी नहीं दिए हैं।

उन्होंने कहा कि बाबा रामदेव ने अपनी सभी ट्रस्टों की आय और व्यय का खुलासा कर दिया है और उनकी चुनौती का देश के सभी सत्ताधारी दलों को स्वीकार करना चाहिए।


उमा भारती ने कहा कि जिस प्रकार के घोटाले सामने आ रहे हैं, उसके बाद सभी राजनीतिक दलों का कर्तव्य बनता है कि भविष्य में स्वच्छ राजनीति के लिये वह इस मामले को लेकर अपना रोडमैप प्रस्तुत करें। उन्होंने कहा कि बाबा रामेदव ने साबित कर दिया है कि ईमानदारी से भी धन अर्जन किया जा सकता है। (भाषा)



और भी पढ़ें :