महँगाई का ठीकरा राज्यों पर फोड़ा

जनता को घबराने की जरूरत नहीं-कांग्रेस

नई दिल्ली (भाषा)| भाषा|
देश में बढ़ती महँगाई और मुद्रास्फीति की दर के रिकॉर्ड 8.1 प्रतिशत तक पहुँचने के बीच कांग्रेस ने बढ़ रही कीमतों का ठीकरा राज्यों के सिर फोड़ते हुए कहा कि महँगाई यदि बढ़ रही है तो राज्य सरकारों को भी जिम्मेदारी लेना होगी।


कांग्रेस कार्यसमिति की बैठक के बाद शनिवार को पार्टी महासचिव जनार्दन द्विवेदी ने बताया कि जनता को घबराने की जरूरत नहीं है। दुनिया के कई मुल्कों के मुकाबले हमारी स्थिति उतनी खराब नहीं है। उन्होंने कहा कि महँगाई से जो स्थिति उत्पन्न हुई है उसकी जिम्मेदारी राज्यों की भी है। राज्यों को जिम्मेदारी लेना चाहिए।

द्विवेदी ने बताया कि कार्यसमिति की बैठक में महँगाई बढ़ने के कई कारण गिनाए गए, लेकिन पार्टी ने इस तरह की समस्याओं को पहले भी हल किया है और आगे भी हल करने में कामयाब होगी।

पेट्रोलियम मूल्यवृद्धि पर चुप्पी : पेट्रोल और डीजल की कीमतें बढ़ाने के बारे में कांग्रेस ने बतौर पार्टी अपनी राय देने से इनकार कर दिया। द्विवेदी से जब संवाददाताओं ने पूछा कि क्या बैठक में पेट्रोल, डीजल की कीमतें बढ़ाने के बारे में कोई सुझाव दिया गया। उन्होंने कहा इस बारे में कांग्रेस की राय का सवाल इसलिए नहीं पैदा होता, क्योंकि ऐसे मुद्दों पर संप्रग में सभी घटक दलों के साथ मिलकर चर्चा होती है। कांग्रेस अपनी राय नहीं देती।

बढ़ती महँगाई के बारे पूछे गए एक अन्य सवाल के जवाब में द्विवेदी ने कहा कि बैठक में महँगाई के बारे में चर्चा हुई और कुछ सवाल किए गए। देश की आर्थिक स्थिति पर भी कुछ सवाल हुए, जिनके जवाब प्रधानमंत्री मनमोहनसिंह ने दिए।



और भी पढ़ें :