दक्षिण भारत में कम होगी बरसात

नई दिल्ली| भाषा| पुनः संशोधित शुक्रवार, 26 अप्रैल 2013 (15:13 IST)
FILE
नई दिल्ली। ने कहा है कि इस वर्ष में की बरसात सामान्य कम होने की आशंका है।

थामस ने आज यहां कहा कि वर्ष 2013 में देश में मानसून की बरसात सामान्य होने का अनुमान है। हालांकि दक्षिण भारत के कुछ हिस्से में परेशानी होने की आशंका है।

उन्होंने कहा कि कुल मिलाकर देश में मानसून की बरसात 'संतोषजनक' रहेगी। इससे मानसून के वैश्विक विशेषज्ञों ने भी देश में बरसात सामान्य होने का अनुमान जताया है। इस वर्ष दक्षिण और पश्चिम भारत के कुछ हिस्से पिछले चार दशक में सबसे भीषण सूखा झेल रहे हैं।
इनमें महाराष्ट्र का विदर्भ संभाग, गुजरात और राजस्थान के कुछ हिस्से और कर्नाटक में सूखे का असर देखा जा रहा है। हालांकि उत्तर भारत में मानसून की बरसात सामान्य रहने की संभावना से बंपर पैदावार की अटकलें लगाई जा रही हैं।

देश में 55 प्रतिशत कृषि भूमि वर्षा पर आधारित है। मानसून के बेहतर रहने से अनाज और चीनी के उत्पादन पर गंभीर असर पड़ता है। (वार्ता)



और भी पढ़ें :