वाजपेयी को देखने पहुँचीं सोनिया

नई दिल्ली (एजेंसियाँ)| वार्ता|
हमें फॉलो करें
संयुक्त प्रगतिशील गठबंधन (संप्रग) की अध्यक्ष सोनिया गाँधी पूर्व प्रधानमंत्री अटलबिहारी वाजपेयी को देखने (एम्स) गईं, जबकि भारतीय जनता पार्टी के वरिष्ठ नेता लालकृष्ण आडवाणी ने नागपुर से फोन कर वाजपेयी के स्वास्थ्य के बारे में जानकारी हासिल की।


श्रीमती गाँधी शनिवार दोपहर गईं और वाजपेयी का उपचार कर रहे डॉक्टरों से उनके स्वास्थ्य के बारे में जानकारी ली। वे वाजपेयी की दत्तक पुत्री नमिता से भी मिलीं।

आडवाणी ने आज सुबह एम्स फोन कर उनका हाल पूछा। उन्होंने शुक्रवार को नागपुर रवाना होने से पूर्व भी एम्स जाकर वाजपेयी के स्वास्थ्य के बारे में जानकारी ली थी।

प्रधानमंत्री की शुभकामनाएँ : प्रधानमंत्री डॉ. मनमोहनसिंह ने शनिवार को पूर्व प्रधानमंत्री अटलबिहारी वाजपेयी के शीघ्र स्वस्थ्य होने की शुभकामनाएँ दी। प्रधानमंत्री की मीडिया सलाहकार दीपक संधु ने बताया कि प्रधानमंत्री के प्रधान सचिव टीकेए नायर आज शाम एम्स गए और प्रधानमंत्री की ओर वाजपेयी को एक फूलों का गुलदस्ता भेंट किया और उनके शीघ्र स्वस्थ होने की शुभकामनाएँ दी।

लोकतंत्र की मजबूती का प्रतीक : वाजपेयी का कुशल क्षेम पूछने के लिए कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गाँधी के एम्स जाने पर भाजपा ने आज कहा कि यह लोकतंत्र की मजबूती को दर्शाता है। पार्टी के वरिष्ठ नेता अरुण जेटली ने सोनिया के वाजपेयी का हालचाल जानने नई दिल्ली स्थित एम्स जाने के बारे में कहा कि वाजपेयीजी से सभी दलों के नेता मिलने जा रहे हैं और उनके शीघ्र स्वास्थ्य की कामना कर रहे हैं। इनमें सोनिया गाँधी भी शामिल थीं। यह स्वस्थ लोकतंत्र और उसकी मजबूती का परिचायक है।
यह कहे जाने पर कि एक ओर तो कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया वाजपेयी से मिलने गईं और दूसरी ओर भाजपा के सभी वरिष्ठ नेता यहाँ पार्टी की बैठक में व्यस्त हैं, जेटली ने कहा कि अधिवेशन शुरू होने से तुरंत पहले वरिष्ठ नेता लालकृष्ण आडवाणी उनसे मिलकर आए हैं और अधिवेशन संपन्न होने के फौरन बाद आडवाणी और पार्टी अध्यक्ष राजनाथसिंह उनसे मिलने जाएँगे।
उन्होंने कहा कि वैसे भी वाजपेयी गहन चिकित्सा इकाई में हैं और स्वास्थ्य के हिसाब से उनसे लोगों का बार-बार मिलने जाना ठीक नहीं है और चिकित्सक भी इसे सही नहीं मानते।

वाजपेयी के लिए महामृत्युंजय यज्ञ : पूर्व प्रधानमंत्री वाजपेयी के शीघ्र स्वस्थ होने की कामना लिए ठाणे में महामृत्युंजय यज्ञ हो रहा है। यह यज्ञ शनिवार सुबह शुरू हुआ। इसके लिए 11 यज्ञकुंड बनाए गए हैं, जिनमें सवा लाख आहुति दी जाएँगी और आज पूरे दिन मंत्रोच्चार किया जाएगा।



और भी पढ़ें :