रिलायंस इंडस्ट्रीज नेटवर्क.18 को 4,000 करोड़ में खरीदेगी

नई दिल्ली| भाषा|
FILE
नई दिल्ली। भारतीय मीडिया क्षेत्र में अब तक के सबसे बड़े सौदे में लिमिटेड (आरआईएल) एवं उसकी अनुषंगी टीवी.18 ब्रॉडकास्ट लिमिटेड पर नियंत्रण के लिए 4,000 करोड़ रुपए खर्च करेगी।

ने एक बयान जारी कर कहा कि आरआईएल के निदेशक मंडल ने इंडिपेंडेंट मीडिया ट्रस्ट (आईएमटी) को 4,000 करोड़ रुपए धन उपलब्ध कराने का प्रस्ताव गुरुवार को मंजूर कर लिया, जो नेटवर्क.18 एंड इनवेस्टमेंट्स व उसकी अनुषंगी टीवी 18 ब्रॉडकास्ट लिमिटेड का अधिग्रहण करेगा। रिलायंस इंडस्ट्रीज, आईएमटी का एक मात्र लाभार्थी है।

यह वित्त पोषण अधिग्रहण के बाद शेयरों की खुली पेशकश के लिए भी होगा। कंपनी ने कहा कि आईएमटी इस धन का इस्तेमाल नेटवर्क.18 एंड इनवेस्टमेंट्स और टीवी.18 का नियंत्रण अपने हाथ में लेने के लिए करेगी, जिससे नेटवर्क.18 में उसकी हिस्सेदारी करीब 78 प्रतिशत हिस्सेदारी और टीवी.18 में नौ प्रतिशत हिस्सेदारी हो जाएगी। साथ ही इस धन का इस्तेमाल खुली बोली में पेश किए जाने वाले शेयरों की खरीद के लिए भी किया जाएगा।

नेटवर्क.18 कई प्रमुख डिजिटल इंटरनेट संपत्तियों की मालिक हैं, जिसमें इन डॉट कॉम, आईबीएनलाइव डॉट कॉम, मनीकंट्रोल डॉट कॉम, फर्स्टपोस्ट डॉट कॉम, क्रिकेटनेक्स्ट डॉट इन, होमशाप18 डाट काम, बुकमाईशो डॉट कॉम, शामिल हैं। इनके अलावा यह कलर्स, सीएनएनआईबीएन, सीएनबीसी टीवी18, आईबीएन7, सीएनबीसी आवाज चैनल चलाती है।
आरआईएल ने कहा कि इस अधिग्रहण से रिलायंस का 4जी कारोबार कुछ हटकर होगा क्योंकि इसमें दूरसंचार के कई खंड जुड़ जाएंगे। नेटवर्क.18 ग्रुप के सीईओ बी. साई कुमार ने कल कंपनी से इस्तीफा दे दिया था। वह इस कंपनी में 14 साल से कार्यरत थे। इसके एक दिन बाद इस आरआईएल की इस पहल की घोषणा हुई है।

सीएनबीसी और सीएनएन के साथ साझीदारी में नेटवर्क.18 समाचार चैनल उद्यमों एवं वायकाम के साथ मिलकर मनोरंजन क्षेत्र में कदम रखने के पीछे साई कुमार की भूमिका रही है। कुमार समूह के कई संयुक्त उद्यम के निदेशक मंडल में रहे और उन्होंने नेटवर्क.18 के कारोबार को घाटे से उबारकर लाभ में लाने का खाका तैयार किया था।
इस साल जनवरी की शुरुआत में नेटवर्क.18 ग्रुप ने सभी नियामकीय मंजूरियां हासिल करने के बाद ईटीवी के विभिन्न चैनलों के शेयर खरीदने का 2,053 करोड़ रुपए के सौदे को संपन्न किया था। यह सौदा 2012 में आरआईएल के साथ हुए उसके करार का हिस्सा था।

नेटवर्क.18 समूह ने ईटीवी उत्तरप्रदेश, ईटीवी मध्यप्रदेश और ईटीवी राजस्थान सहित क्षेत्रीय हिंदी समाचार चैनलों में 100 प्रतिशत हिस्सेदारी खरीदी थी। साथ ही इसने ईटीवी मराठी, ईटीवी कन्नड़ व ईटीवी बांग्ला सहित मनोरंजन चैनलों में 50 प्रतिशत हिस्सेदारी खरीदी थी। इसके अलावा, समूह ने ईटीवी तेलुगू व ईटीवी तेलुगू न्यूज की 24.5 प्रतिशत हिस्सेदारी खरीदी थी।
इससे पहले भारतीय मीडिया क्षेत्र में सबसे बड़ा सौदा वाल्ट डिज्नी कंपनी द्वारा 2,000 करोड़ रुपए में यूटीवी सॉफ्टवेयर एंड कम्युनिकेशंस का अधिग्रहण था जो उसने फरवरी, 2012 में किया था।



और भी पढ़ें :