भारत की नाराजगी पर चीन की सफाई

नई दिल्ली (वार्ता)| वार्ता| पुनः संशोधित सोमवार, 8 सितम्बर 2008 (23:14 IST)
चीन ने परमाणु सामग्री आपूर्तिकर्ता देशों के समूह एनएसजी की बैठक में अपने रवैए को सकारात्मक और जिम्मेदाराना करार दिया है। उसके मुताबिक सभी देशों को शांतिपूर्ण कार्यों के लिए परमाणु ऊर्जा के विकास और अंतरराष्ष्ट्रीय सहयोग हासिल करने का अधिकार है।

एनएसजी की बैठक में कथित रूप से भारत विरोधी रवैया अपनाने के संदर्भ में जारी बयान में चीन के विदेश मंत्रालय ने कहा कि विएना में गत छह सितंबर की बैठक में सर्वसम्मति से भारत के पक्ष में फैसला किया गया तथा उसके खिलाफ लगे प्रतिबंध हटा लिए गए।

उल्लेखनीय है कि एनएसजी की बैठक में चीन उन कुछ देशों में शामिल था, जिन्होंने भारत के खिलाफ प्रतिबंधों को हटाने के बारे में शंका प्रकट की थी। चीन के इस रुख को लेकर भारतीय अधिकारियों ने अपनी निराशा और नाखुशी जताई है।

चीन की ओर से स्पष्टीकरण उस समय आया है, जब उसके विदेशमंत्री यांग जी भारत दौरे पर हैं। उन्होंने द्विपक्षीय और अंतरराष्ट्रीय मुद्दों पर विदेशमंत्री प्रणव मुखर्जी से व्यापक विचार-विमर्श किया।

चीन के विदेशमंत्री भारत यात्रा के सिलसिले में रविवार को कोलकाता पहुँचे थे, जहाँ उन्होंने नवस्थापित चीनी वाणिज्य दूतावास का उद्घाटन किया था।


और भी पढ़ें :