पाक के लिए बड़ी जीत जरूरी

लंदन (भाषा)| भाषा| पुनः संशोधित सोमवार, 8 जून 2009 (21:54 IST)
इंग्लैंड से मिली हार के बाद विषम मोड़ पर खड़े को आईसीसी ट्वेंटी-20 विश्व प के सुपर आठ दौर में पहुँचने के लिए अब मंगलवार को यहाँ पर बड़े अंतर से जीत दर्ज करना होगी, जो स्वयं अगले चरण में जगह बनाने का दावेदार बना हुआ है।

नीदरलैंड ने पहले मैच में इंग्लैंड पर चार विकेट से जीत दर्ज कर ग्रुप बी में मुकाबले को रोचक बना दिया, इसलिए पाकिस्तान अपेक्षाकृत कमजोर मानी जा रही इस टीम को किसी भी रूप में हल्के से लेने की गलती नहीं करेगा।

पाकिस्तान की सबसे बड़ी चिंता उसके कुछ प्रमुख बल्लेबाजों का नहीं चल पाना और लचर क्षेत्ररक्षण है। इंग्लैंड के खिलाफ उसके क्षेत्ररक्षकों ने महत्वपूर्ण क्षणों में कैच टपकाए। कप्तान यूनिस खान भी इसे लेकर काफी चिंतित हैं।
उन्होंने कहा हमारा क्षेत्ररक्षण बहुत लचर रहा। हमने 20 से 25 रन अधिक दिए। यह चिंता की बात है। मुझे नहीं पता कि हमारे खिलाड़ी सही क्षेत्ररक्षण क्यों नहीं कर पाए। ऐसा नहीं है कि हमने कड़े प्रयास नहीं किए हों, लेकिन हम उसे अंजाम तक नहीं पहुँचा पाए और इसका कारण मैं नहीं जानता।

यूनिस ने कहा कि उनकी टीम नीदरलैंड पर बड़े अंतर से जीत दर्ज करने के लिए कोई कसर नहीं छोड़ेगी, लेकिन इसके साथ ही उन्होंने अपने खिलाड़ियों को आगाह किया है कि वे प्रतिद्वंद्वी टीम को कमजोर नहीं आँके।
यूनिस ने कहा हमें हर हाल में उन पर बड़ी जीत हासिल करना होगी। यदि ऐसा नहीं होगा तो हम टूर्नामेंट से बाहर हो जाएँगे। आशा है कि सीनियर खिलाड़ी बेहतर प्रदर्शन करेंगे। अब शाहिद अफरीदी, मिसबाह उल हक, शोएब मलिक और मुझ पर काफी कुछ निर्भर करता है।

पाकिस्तान की सबसे बड़ी चिंता आक्रामक बल्लेबाज अफरीदी का नहीं चल पाना है। वे भारत के खिलाफ अभ्यास मैच में भी बिना खाता खोले पैवेलियन लौटे, जबकि इंग्लैंड के खिलाफ भी अधिक देर तक क्रीज पर नहीं टिक पाए। कप्तान को विश्वास है कि नीदरलैंड के खिलाफ अफरीदी अपने तूफानी तेवर दिखाकर शतक जमाएँगे।
जहाँ तक नीदरलैंड का सवाल है तो उसके पास खोने के लिए कुछ नहीं है, लेकिन इंग्लैंड पर जीत से उसके खिलाड़ियों का मनोबल बढ़ा है और कप्तान जेरोन स्मिथ का मानना है कि उनकी टीम सुपर आठ में जगह बना सकती है। उन्होंने कहा अब हम फाइनल्स में खेलने के बारे में सोच रहे हैं।

नीदरलैंड का नेट रन रेट पॉजिटिव है, जिससे पाकिस्तान पर मैच में दबाव रहेगा। उसका रन रेट नेगेटिव है। ऐसे में यदि यूनिस खान की टीम कम अंतर से जीत दर्ज कर भी लेती है तब भी उसे बाहर रहना पड़ सकता है।
नीदरलैंड का दारोमदार फिर से पिछले मैच में 49 रन बनाने वाले टाम डि ग्रूथ पर रहेगा। उनके अलावा पीटर बोरेन रियान, डि दोयस्ते और बी. जुडिरेंट भी रन जुटाने में माहिर हैं।



और भी पढ़ें :