मैच फिक्सिंग में डिसिल्वा, जयसूर्या का नाम नहीं

कोलंबो| भाषा| पुनः संशोधित बुधवार, 8 जून 2011 (16:12 IST)
हमें फॉलो करें
श्रीलंका के पूर्व कप्तान हसन तिलकरत्ने ने इस बात से इनकार किया कि उन्होंने में पूर्व कप्तान अरविंद डिसिल्वा और सनत जयसूर्या के शामिल होने की बात कही थी।


एक श्रीलंकाई वेबसाइट की रिपोर्ट में कहा गया कि हसन ने डिसिल्वा और जयसूर्या का नाम लिया है। तिलकरत्ने ने बुधवार को जारी बयान में कहा कि उन्होंने राष्ट्रपति महिंदा राजपक्षे से हाल ही में हुई मुलाकात में किसी का नाम नहीं लिया।

उन्होंने कहा कि बैठक में मेरे साथ मेरी पत्नी अप्सरी तिलकरत्ने और बौद्ध भिक्षु रेव उडुवे धम्मलोका ने भी भाग लिया था। राष्ट्रपति ने मेरे बयान पर स्पष्टीकरण के लिए बैठक बुलाई थी। मैं बताना चाहता हूं कि मैंने बैठक में किसी खिलाड़ी या व्यक्ति का नाम नहीं लिया।’’

‘डेली मिरर’ के अनुसार पश्चिमी प्रांतीय परिषद में विरोधी यूएनपी के सदस्य तिलकरत्ने ने परिषद की बैठक में यह बयान दिया। एक श्रीलंकाई वेबसाइट ने कहा था कि तिलकरत्ने ने डिसिल्वा और जयसूर्या के फिक्सिंग में लिप्त होने की बात कही थी।


तिलकरत्ने ने कहा कि वे श्रीलंकाई पुलिस और आईसीसी की जांच में पूरी मदद कर रहे हैं। उन्होंने आरोप लगाया था कि श्रीलंका में 1992 से क्रिकेट में फिक्सिंग का चलन है। तिलकरत्ने ने कहा,‘‘ आपराधिक जांच विभाग ने मुझे दो बार समन जारी किया और मैंने दोनों मौकों पर सहयोग किया। मैं बताना चाहता हूं कि मैं इस मामले में वादी हूं, अभियुक्त नहीं।’’
उन्होंने कहा,‘‘ मैंने आईसीसी को अपने नंबर दे दिए हैं ताकि वे किसी भी समय मुझसे संपर्क कर सकें। श्रीलंका क्रिकेट ने भी मुझे संबंधित अधिकारियों के नंबर दिए हैं।’’ तिलकरत्ने 1996 की विश्व कप विजेता श्रीलंकाई टीम के सदस्य थे जिसमें जयसूर्या और डिसिल्वा भी थे। (भाषा)



और भी पढ़ें :