धोनी की जगह विराट कोहली को कप्तानी दें : गावस्कर

नई दिल्ली| भाषा| पुनः संशोधित गुरुवार, 27 दिसंबर 2012 (21:56 IST)
FILE
महान भारतीय बल्लेबाज का मानना है कि महेंद्रसिंह धोनी को क्रिकेट के तीनों प्रारूपों में कप्तानी से विश्राम लेना चाहिए तथा उनकी जगह विराट कोहली को यह जिम्मेदारी सौंप देनी चाहिए।

गावस्कर ने कहा, जहां तक 2015 विश्वकप की बात है तो अभी उसमें काफी समय है, लेकिन मेरा मानना है कि कप्तानी से ब्रेक से धोनी में अधिक निखार आएगा। मैं यह नहीं कह रहा हूं कि श्रृंखला के बीच ऐसा करना चाहिए लेकिन ऑस्ट्रेलियाई श्रृंखला के बाद या 2013 के बाद के महीनों में ऐसा किया जा सकता है। इस दिग्गज सलामी बल्लेबाज ने कहा कि विश्राम से धोनी को अपने खेल और नेतृत्व क्षमता पर विचार करने का मौका मिलेगा।
उन्होंने कहा, यह विश्राम वे खुद ले सकते हैं या उन्हें दिलाया जा सकता है, लेकिन उन्हें अपने खेल पर विचार करने और बेहतर तरह से वापसी करने के लिए समय देने की जरूरत है। वे जिस तरह से अब भी शांतचित बने हुए हैं, उससे मैं प्रभावित हूं, लेकिन थोड़े समय के लिए विश्राम बुरा नहीं होगा। भारत की कप्तानी करना बहुत बड़ा सम्मान है, लेकिन इससे बहुत अपेक्षाएं और दबाव भी जुड़े हुए हैं। गावस्कर ने कहा कि युवा विराट कोहली को धोनी की जगह कप्तान बनाया जा सकता है।
उन्होंने कहा, ‘मैं गलत हो सकता हूं, लेकिन विराट कोहली अपनी कप्तानी में टाइगर पटौदी जैसा जज्बा दिखा सकते हैं। यदि उन्‍हें पता चलता है कि वे लंबे समय के लिए नियुक्त किए गए हैं तो वे डायनामिक हैं तथा उनमें आक्रामकता और कौशल है। मुझे उनकी हर चीज पसंद है, लेकिन कोई उपलब्धि हासिल करने के बाद वे जिस तरह से गाली निकालते हैं, वह कतई पसंद नहीं है। मैं नहीं चाहता कि वे इसके अलावा खुद में कोई बदलाव करे।
रिपोर्टों के अनुसार राष्ट्रीय चयनकर्ताओं ने धोनी से विश्वकप 2015 के लिए खाका तैयार करने के लिए कहा है, जिस पर गावस्कर ने सवाल उठाए। उन्होंने कहा, मुझे थोड़ी हैरानी हुई, क्योंकि चयन समिति का कार्यकाल केवल एक साल के लिए है और कोई कैसे आश्वस्त हो सकता है कि वह 2014 या 2015 की टीम तैयार करने के लिए वहां रहेगा।

रिपोर्टों के अनुसार ऑस्ट्रेलियाई श्रृंखला के बाद कोच डंकन फ्लैचर के अनुबंध का नवीनीकरण नहीं किया जाएगा तथा गावस्कर ने कहा कि किसी भारतीय को यह जिम्मेदारी सौंपी जानी चाहिए। उन्होंने कहा, मैं चाहूंगा कि किसी भारतीय या फिर गैरी कर्स्टन जैसे खिलाड़ी को कोच बनाया जाए। यदि आपके पास चैंपियन क्रिकेटर होगा तो वह आपको बेहतर करने में मदद कर सकता है। (भाषा)



और भी पढ़ें :