युवराज के पिता योगराज कई बार रोए

मुंबई| भाषा|
FILE
स्टार क्रिकेटर युवराजसिंह के पिता योगराजसिंह ने रविवार को कहा कि मैं अपने बेटे की वापसी का बेसब्री से इंतजार कर रहा हूं। पूर्व रणजी खिलाड़ी योगराज के अनुसार जब से युवराज को पता चला था, तब से मैं कई धार्मिक स्थलों पर सजदा करने गया और न जाने कितनी बार आंखों से आंसू टपके

योगराज के अनुसार युवराज की स्वस्थ वापसी के लिए मैं पूरे देश को मुबारकबाद देना चाहता हूं, क्योंकि पहली बार यह अहसास हुआ कि युवी सिर्फ मेरा बेटा ही नहीं है, पूरा देश उसको कितना प्यार करता है। देशवासियों की दुआओं और ईश्वर की रहमत की बदौलत मेरा बेटा कैंसर को हराकर वापस लौट रहा है।

उन्होंने कहा कि जब मुझे युवराज के शरीर में कैंसर की बीमारी का पता चला तो मैंने ईश्वर से यही सवाल किया कि यदि किसी जन्म में मुझसे कोई गलती हो गई हो तो उसकी सजा मुझे दो, मेरे बेटे ने किसी का क्या बिगाड़ा, जिसे इतनी तकलीफ झेलना पड़ रही है।
योगराज ने यह भी कहा कि गुरुओं और पीरों के चरणों में जब मेरा सिर झुकता था तो बरबस आंखों में आंसू आ जाया करते थे। मेरी बस एक ही प्रार्थना रहती थी कि किसी तरह मेरा बेटा ठीक हो जाए। मैं ईश्वर का कृतज्ञ हूं कि मेरा बेटा कैंसर को हराने में सफल रहा। मैं शब्दों में अपनी खुशी को बयां करने में नाकाम हूं। बस यही कहना चाहूंगा कि पूरे देश को युवी की जरूरत है। (वेबदुनिया न्यूज)



और भी पढ़ें :