रॉयल्स का आईपीएल में नहीं खेलना शर्मनाक होता

मीरपुर| भाषा| पुनः संशोधित सोमवार, 31 मार्च 2014 (21:24 IST)
FILE
मीरपुर। इंडियन प्रीमियर लीग में के छह साल विवादों से भरे रहे लेकिन टीम के नए कप्तान का मानना है कि अगर पहले टूर्नामेंट के विजेता को इस लुभावनी के सातवें टूर्नामेंट में खेलने से प्रतिबंधित कर दिया जाता तो यह ‘शर्मनाक’ होता।


बांग्लादेश के खिलाफ ऑस्ट्रेलिया के महज औपचारिकता के अंतिम मुकाबले की पूर्व संध्या पर वॉटसन ने संवाददाताओं से कहा, ‘निजी तौर पर यह मेरे लिए बड़ी शर्म की बात होती अगर राजस्थान में नहीं खेलता क्योंकि टूर्नामेंट की शुरूआत से ही मैंने उनके साथ प्रत्एक लम्हें का लुत्फ उठाया है।’
उन्होंने कहा, ‘लेकिन जैसा कि मैंने कहा हमें (रॉयल्स) पहले भी बाहर किया जा चुका है इसलिए आपको नहीं पता कि कब क्या हो जाए लेकिन भगवान का शुक्र है कि हम फिर सही जगह पर हैं। मुझे हमेशा से विश्वास रहा है कि अंत में सब कुछ सही रहेगा और ऐसा लग रहा है कि यही हो रहा है।’

ऑस्ट्रेलिया पहले ही टूर्नामेंट से बाहर हो चुका है, इसलिए आज की प्रेस कांफ्रेंस में आईपीएल और युवराज सिंह जैसे मुद्दे छाए रहे।
वॉटसन ने युवराज के बारे में कहा, ‘युवराज हमेशा से लय में आने के लिए समय लेता है। पहले दो मैचों में उसने रन नहीं बनाए लेकिन मैंने 18 बरस की उम्र (2000 अंडर 19 विश्व कप से) से कई बार युवराज को अपनी टीम की धज्जियां उड़ाते हुए देखा है।’ (भाषा)



और भी पढ़ें :