आईसीसी ने गुरुनाथ मयप्पन को चेताया था

मुंबई| भाषा| पुनः संशोधित शुक्रवार, 31 मई 2013 (23:50 IST)
हमें फॉलो करें
FILE
मुंबई। आईसीसी के एक अधिकारी ने की चेन्नई सुपरकिंग्स टीम के मालिक गुरुनाथ मयप्पन को फिक्सिंग प्रकरण में गिरफ्तार किए जाने से हफ्तों पहले बुकीज के साथ उसके संपर्कों को लेकर उसे चेताया था


अन्तरराष्ट्रीय क्रिकेट के शीर्ष संचालक संगठन की भ्रष्टाचार निरोधक इकाई के एक अधिकारी ने मौखिक रूप से बीसीसीआई अध्यक्ष एन. श्रीनिवासन के दामाद मयप्पन से कहा था कि वह बुकीज से दूरी बनाकर रखे। बुकीज के साथ मयप्पन की नजदीकियां सामने आने के बाद अधिकारी ने उसे आगाह किया था।

जांच में शामिल क्राइम ब्रांच के एक शीर्ष अधिकारी ने बताया कि आगाह किए जाने के बाद मयप्पन ने विनोद रंधावा से कहा था, ‘सावधान रहो, मुझे चेतावनी मिल चुकी है।’ मामले में रंधावा भी सलाखों के पीछे है। सूत्रों ने बताया कि यह क्राइम ब्रांच को दिए मयप्पन के बयान का हिस्सा है। उन्होंने बताया कि विंदू ने इससे सहमति जताई है।

सूत्र ने उस अधिकारी का नाम बताने से इनकार कर दिया और कहा कि उन्होंने इस बारे में आईसीसी से अभी पुष्टि नहीं की है। उन्होंने कहा, ‘हमने मयप्पन के बयान की पुष्टि आईसीसी से अभी नहीं की है और इस समय तक हम यह भी नहीं जानते कि वास्तव में कोई ऐसा व्यक्ति है भी या नहीं, जिसका नाम मयप्पन ने लिया है।’

आईसीसी की भ्रष्टाचार निरोधक और सुरक्षा इकाई खिलाड़ियों, टीम सदस्यों और अंपायरों की गतिविधियों पर नजर रखती है ताकि खेल में कदाचार पर नियंत्रण रखा जा सके। सूत्रों ने भ्रष्टाचार रोधी इकाई (एसीएसयू) के अधिकारी के नाम का खुलासा नहीं किया। उन्होंने कहा कि उन्हें अभी आईसीसी से इसकी पुष्टि करनी है।

एसीएसयू खेल में किसी तरह की गड़बड़ी रोकने के लिए खिलाड़ियों, टीम सदस्यों और अंपायरों पर नजर रखती है। अपराध शाखा के सूत्रों ने बताया कि मयप्पन की संदिग्ध हरकतों के बारे में कभी बीसीसीआई को सूचित नहीं किया गया।
उन्होंने कहा एसीएसयू अधिकारी सीधे मयप्पन के संपर्क में थे। बीसीसीआई को इस बारे में सूचित नहीं किया गया। सूत्रों ने कहा कि मयप्पन से पूछा गया कि उसे इस तरह की चेतावनी क्यों दी गई थी तो उसने कहा ‘शायद मेरी (विंदू और अन्य सटोरियों के साथ) दोस्ती के कारण दी गई।’

इस संबंध में जब श्रीनिवासन से संपर्क किया गया तो श्रीनिवासन ने कहा कि गुरुनाथ या अन्य किसी को लेकर बीसीसीआई को आईसीसी से चेतावनी नहीं मिली थी। श्रीनिवासन ने कहा कि उन्होंने बीसीसीआई अधिकारियों से पता किया है और उन्होंने भी उन्हें बताया कि इस तरह की चेतावनी नहीं मिली।
बीसीसीआई के संयुक्त सचिव अनुराग ठाकुर ने भी कहा कि आईसीसी से इस तरह की कोई बात नहीं हुई थी। आईसीसी ने दूसरी तरफ गुरुनाथ को कथित चेतावनी से संबंधित मसले पर कहने से इनकार कर दिया। जब मुंबई पुलिस के दावे के बारे में आईसीसी प्रवक्ता से पूछा गया, उन्होंने कहा, ‘आईसीसी एसीएसयू वर्तमान जांच में बीसीसीआई और भारतीय पुलिस को पूरा सहयोग दे रही है।’ (भाषा)



और भी पढ़ें :