शेष भारत टीम से गांगुली बाहर

सचिन और मोहम्मद कैफ को जगह

मुंबई (भाषा) | भाषा|
पूर्व कप्तान सौरव गांगुली के भविष्य पर प्रश्नचिन्ह लगाते हुए चयनकर्ताओं ने उन्हें और युवराजसिंह को रणजी चैम्पियन दिल्ली के खिलाफ 24 से 28 सितंबर तक वडोदरा में होने वाले ईरानी कप मैच के लिए शेष भारत टीम में जगह नहीं दी है।

श्रीलंका में टेस्ट श्रृंखला में गांगुली का प्रदर्शन खराब रहा। उनके अलावा सीनियर बल्लेबाज सचिन तेंडुलकर, राहुल द्रविड़ और वीवीएस लक्ष्मण भी कोई कमाल नहीं कर सके थे। वहीं युवराज वनडे क्रिकेट में खराब फॉर्म से जूझ रहे हैं। तेंडुलकर, द्रविड़ और लक्ष्मण को अनिल कुंबले की अगुआई वाली 14 सदस्यीय टीम में शामिल किया गया है।

दिलीप वेंगसरकर की अगुआई वाली निवृतमान चयन समिति ने मोहम्मद कैफ के लिए राष्ट्रीय टीम में वापसी की उम्मीदें जगाते हुए उसे एक और मौका दिया है। इस मैच को ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ आगामी टेस्ट श्रृंखला के लिए टीम का चयन ट्रायल माना जा रहा है।
बंगाल कि मध्यम तेज गेंदबाज अशोक डिंडा का चयन चौकाने वाला रहा। उन्होंने मई जून में इंडियन प्रीमियर लीग में अच्छा प्रदर्शन किया था। मुंबई के सलामी बल्लेबाज वसीम जाफर को भी एक और मौका दिया गया है।

चयनकर्ताओं ने एस. बद्रीनाथ की अगुआई वाली भारत 'ए' टीम की भी घोषणा की जो चेन्नई और हैदराबाद में 15 से 26 सितंबर तक ऑस्ट्रेलिया और न्यूजीलैंड की ए टीमों के खिलाफ त्रिकोणीय श्रृंखला खेलेगी।
ईरानी ट्रॉफी के लिए घोषित टीम : अनिल कुंबले (कप्तान), राहुल द्रविड़, सचिन तेंडुलकर, वीवीएस लक्ष्मण, वसीम जाफर, एमएस धोनी, मोहम्मद कैफ, हरभजनसिंह, प्रज्ञान ओझा, जहीर खान, मुनाफ पटेल, आरपी सिंह, पार्थिव पटेल, अशोक डिंडा।

भारत 'ए' टीम : एस. बद्रीनाथ (कप्तान), सुरेश रैना (उपकप्तान), रॉबिन उथप्पा, स्वप्निल असनोदकर, रोहित शर्मा, दिनेश कार्तिक, अभिषेक नायर, इरफान पठान, प्रवीण कुमार, धवल कुलकर्णी, पीयूष चावला, रवि तेजा, यूसुफ पठान, जयदेव शाह और रिधिमान साहा।
गांगुली ने श्रीलंका में तीन टेस्ट मैचों में सिर्फ 96 रन बनाए और मध्यक्रम की नाकामी के कारण भारत को पराजय का सामना करना पड़ा। तेंडुलकर द्रविड़ और लक्ष्मण भी फॉर्म में नहीं थे।

बंगाल के 36 वर्षीय इस दिग्गज बल्लेबाज की स्थिति अब वैसी नहीं है, जब ग्रेग चैपल के कोच रहने के समय घरेलू क्रिकेट में शानदार प्रदर्शन करके उन्होंने टीम में वापसी की थी। इस बार उम्र भी उनके साथ नहीं है। अब तक 109 टेस्ट में 6888 रन बनाने वाले भारत के सफलतम टेस्ट कप्तान के करियर का इसे अवसान ही समझा जा सकता है।
वह और द्रविड़ भारतीय वनडे टीम से भी जगह गँवा चुके हैं। निवृतमान चयन समिति ने युवराज के टेस्ट करियर को भी अधर में लटका दिया है। बोर्ड की 27 और 28 सितंबर को होने वाली सालाना आम बैठक में चयन समिति का पुनर्गठन होगा।

बीसीसीआई सचिव निरंजन शाह ने बताया कि मौजूदा समिति के कुछ सदस्य वडोदरा में ईरानी ट्रॉफी मैच देखेंगे जबकि ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ पहले टेस्ट के लिए टीम नयी चयन समिति चुनेगी।




और भी पढ़ें :