महेंद्रसिंह धोनी हुए 29 वर्ष के

FILE
5 अप्रैल 2005 को महेंद्रसिंह धोनी ने विशाखापट्टनम में अपने करियर का केवल 5वाँ एकदिवसीय क्रिकेट मैच खेलते हुए 123 गेंदों में 148 रनों की धुआँधार पारी खेली। यह पहला मौका था, जब धोनी ने अंतरराष्ट्रीय स्तर पर अपने बल्ले की चमक बिखेरी। इस पारी में धोनी ने 15 चौके और 4 छक्के जमाए थे। भारत ने इस मैच को 58 रनों के अंतर से जीता।

183 रन विरुद्ध श्रीलंका, जयपु

FILE
31 अक्टूबर 2005 को धोनी ने श्रीलंका के गेंदबाजों की लू उतारते हुए केवल 145 गेंदों में 183 रन बना दिए। इस दौरान धोनी ने 15 चौके और 10 छक्के लगाए और श्रीलंकाई गेंदबाजों की जमकर धुनाई की।

श्रीलंका ने इस मैच में पहले खेलते हुए भारत को जीत के लिए 299 रनों का विशाल लक्ष्य दिया था, लेकिन धोनी की तूफानी पारी की बदौलत भारत ने यह लक्ष्य केवल 46.1 ओवर में चार विकेट के नुकसान पर हासिल कर लिया। धोनी 183 रन बनाकर नाबाद रहे।

124 रन विरुद्ध ऑस्ट्रेलिया, नागपु

FILE
धोनी ने ऑस्ट्रेलियाई गेंदबाजों की खबर लेते हुए 28 अक्टूबर 2009 को अपने करियर का एक और शतक जड़ा। धोनी ने 107 गेंदों पर 9 चौके और 3 छक्कों की मदद से 124 रन बनाए। इस मैच में भारत ने बड़े अंतर से जीत हासिल की।

68 रन विरुद्ध दक्षिण अफ्रीका, ग्वालिय

WD|
आज 7 जुलाई को भारतीय क्रिकेट टीम के कप्तान महेंद्रसिंह धोनी का जन्मदिन है। हाल ही में धोनी अपनी बचपन की मित्र साक्षी रावत के साथ परिणय सूत्र में बंधे हैं। धोनी के नेतृत्व में भारतीय टीम ने कई यादगार जीत हासिल की हैं। उनके जन्मदिन पर जिक्र करते हैं, वनडे क्रिकेट में धोनी की कुछ चुनिंदा पारियों का।
148 रन विरुद्ध पाकिस्तान, विशाखापट्टन
24 फरवरी 2010 को भारत और दक्षिण अफ्रीका के बीच खेला गया एकदिवसीय मैच यूँ तो सचिन तेंडुलकर के दोहरे शतक (200) के कारण याद किया जाता है, लेकिन इस मैच में भारत ने दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ पहली बार 400 रनों के स्कोर को पार किया। इसमें धोनी ने महत्वपूर्ण भूमिका निभाई। धोनी ने केवल 35 गेंदों का सामना करते हुए 7 चौके और 4 छक्कों की मदद से नाबाद 68 रन बनाए।



और भी पढ़ें :