मुंबई पर दिल्ली की एकतरफा जीत

AB-de-Villers
PTI
टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करते हुए मुंबई की टीम 20 ओवर में सिर्फ 116 रन ही एकत्र कर सकी। रजत भाटिया ने 3 विकेट लिए जबकि नैंस और नेहरा ने 2-2 विकेट आपस में बाँटे।

जवाब में दिल्ली डेयरडेविल्स ने डेविड वार्नर 21, गौतम गंभीर 19 और दिलशान (17) के विकेट गँवाकर जीत का लक्ष्य प्राप्त कर लिया। डिविलियर्स 50 और दिनेश कार्तिक 5 रन बनाकर नाबाद रहे। मुंबई की गेंदबाजी काफी लचर रही। यही कारण है कि दिल्ली को मैच जीतने में कोई परेशानी नहीं हुई। आशीष नेहरा को 'मैन ऑफ द मैच' का पुरस्कार मिला।

इससे पहले मुंबई के कप्तान सचिन तेंडुलकर ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करने का फैसला किया। उन्हें उम्मीद थी कि पिछले कुछ मैचों से असफल चल रहे उनके बल्लेबाज दिल्ली डेयरडेविल्स के खिलाफ बेहतर प्रदर्शन करेंगे, लेकिन दिल्ली टीम की शानदार गेंदबाजी के सामने उनकी टीम पूरी तरह बिखर गई।

मुंबई की टीम में आक्रामक ओपनर सनथ जयसूर्या की जगह ल्यूक रोंची को शामिल किया गया था। इसके अलावा कप्तान सचिन ने अपने बल्लेबाजी क्रम में भी बदलाव किया और खुद ओपनिंग करने के बजाय रोंची और पिनल शाह (11) को ओपनिंग के लिए भेजा, लेकिन मुंबई का कोई भी दाँव सही नहीं बैठा और जब टीम का स्कोर एक रन था तभी रोंची बिना खाता खोले दुभाग्यपूर्ण तरीके से रनआउट हो गए।

इसके कुछ देर बाद ही पिछले कुछ समय से शानदार फॉर्म में चल रहे जेपी डुमिनी भी डीपी नैन्स की बेहतरीन गेंदबाजी से गच्चा खा गए और बिना खाता खोले उनकी गेंद पर विकेटकीपर दिनेश कार्तिक को कैच थमाकर पैवेलियन लौट गए। मुंबई के दो विकेट एक रन पर गिर चुके थे।

इसके बाद चौथे नंबर पर सचिन बल्लेबाजी करने आए। उनमें और शाह के बीच अभी चौथे विकेट के लिए 28 रन की साझेदारी हुई ही थी कि तभी सचिन भी दुर्भाग्यपूर्ण तरीके से रन आउट हो गए। मुंबई के लिए यह बड़ा झटका साबित हुआ। सचिन 14 गेंदों में दो चौकों की मदद से 15 रन ही बना सके।

मुंबई का तीसरा विकेट 30 रन पर आउट हुआ। सचिन के आउट होते ही शाह भी चलते बने। तेज गेंदबाज रजत भाटिया की गेंद को उड़ाकर खेलने के चक्कर में वे अमित मिश्रा को कैच थमा बैठे और 33 रन पर मुंबई का चौथा विकेट गिर गया। शाह ने 20 गेंदों में मात्र 11 रन बनाए।

लेकिन बाद में अभिषेक नायर (18) और ड्‍वेन ब्रावो (35) ने विकेटों के पतझड़ को रोका और पाँचवें विकेट के लिए 57 रन की साझेदारी कर टीम को 100 रन के करीब पहुँचाया। इस दौरान ब्रावो ने कुछ अच्छे शॉट खेले। हालाँकि नायर भी बहुत अच्छा प्रदर्शन नहीं कर पाए।

टीम का स्कोर जब 90 रन था तभी ब्रावो नैन्स की एक बेहतरीन गेंद पर कार्तिक के हाथों कैच आउट हो गए। उन्होंने 30 गेंदों में दो चौकों और दो छक्कों की मदद से 35 रन बनाए। ब्रावो का आउट होना था कि मुंबई के बाकी बचे विकेट भी धड़ाधड़ गिरने शुरू हो गए।

नायर 90 के योग पर ही छठे विकेट के रूप में आउट हुए। उन्होंने एक चौके की मदद से 18 रन बनाए। हरभजन सिंह 10, अंजिक्य रहाणे 12 रन पर आउट हुए। दिल्ली की तरफ से भाटिया ने चार ओवर में 15 रन देकर सर्वाधिक तीन विकेट झटके। नैन्स और नेहरा को दो-दो विकेट मिले।

ईस्ट लंदन (वेबदुनिया/वार्ता)| WD|
हमें फॉलो करें
में शुक्रवार को दिल्ली डेयरडेविल्स ने को एकतरफा मुकाबले में सात विकेट से हरा दिया। 117 रनों के मामूली लक्ष्य को दिल्ली ने 18.5 ओवर में तीन विकेट के नुकसान पर अर्जित कर डाला।
दिल्ली-मुंबई मैच का स्कोर कार्ड



और भी पढ़ें :