डेक्कन लय बरकरार रखने की कोशिश में

किंबर्ली (भाषा)| भाषा|
हमें फॉलो करें
मुंबई इंडियंस के खिलाफ 19 रन की जीत दर्ज करने के बाद फिर पटरी पर लौटी डेक्कन चार्जर्स की टीम शनिवार को जब के मैच में यहाँ के खिलाफ मैदान पर उतरेगी तो उसकी कोशिश इस विजयी लय को जारी रखने की होगी।


हैदराबाद की टीम ने लगातार चार मैचों में जीत दर्ज कर अपने अभियान की शुरुआत की लेकिन फिर उन्हें तीन मैचों में हार का सामना करना पड़ा। अब वे खराब दौर से गुजर रही पंजाब की टीम के खिलाफ जीत दर्ज करके अंक तालिका में अपने चौथे स्थान में सुधार की कोशिश करेंगे।

बल्लेबाजी विभाग में डेक्कन चार्जर्स के कप्तान एडम गिलक्रिस्ट और दक्षिण अफ्रीका के हर्शल गिब्स शीर्ष क्रम में अच्छी फॉर्म में हैं जबकि रोहित शर्मा और टी. सुमन मध्यक्रम को मजबूती प्रदान कर रहे हैं।

ऑलराउंडर एंड्रयू साइमंड्स की वापसी से डेक्कन की टीम को मजबूती मिलेगी क्योंकि ऑस्ट्रेलियाई बोर्ड ने पाकिस्तान के खिलाफ दुबई और अबूधाबी में समाप्त वनडे श्रृंखला के बाद उन्हें में खेलने की अनुमति दे दी है।

वहीं युवराजसिंह की अगुवाई वाली किंग्स इलेवन पंजाब चार जीत दर्ज करके अंक तालिका में छठे स्थान पर काबिज है। हालाँकि यह स्थिति कुछ और हो सकती थी अगर उन्हें तीन बार इंद्रदेव के कोप का भाजन नहीं बनना पड़ता, जिसमें डकवर्थ-लुईस पद्धति से उन्हें हार का सामना करना पड़ा।

ऑस्ट्रेलियाई तेज गेंदबाज ब्रेट ली की उपलब्धता से युवराज के चेहरे पर मुस्कुराहट निश्चित रूप से आएगी ही और उनके गेंदबाजी आक्रमण में एक पैना तीर भी शामिल जाएगा, जिसकी काफी कमी दिख रही है।
पंजाब की टीम के दक्षिण अफ्रीका के गेंदबाज यूसुफ अब्दुल्ला की तेज और धोखा देने वाली स्विंग बल्लेबाजों की नाक में दम जरूर कर रही है लेकिन अन्य गेंदबाज इस आक्रामकता को बरकरार रखने में उनका साथ नहीं दे पा रहे हैं।

उम्मीद है कि ली इरफान पठान के साथ नई गेंद से गेंदबाजी करेंगे जबकि टीम को अब्दुल्ला से इसी तरह के प्रदर्शन की आशा है, जिन्होंने नौ मैचों में अब तक 14 विकेट चटकाए हैं।
फॉर्म में चल रहे युवराज ने चेन्नई के खिलाफ 36 गेंद में 58 रन बनाए थे और श्रीलंकाई महेला जयवर्धने तथा कुमार संगकारा के साथ वह बल्लेबाजी के मुख्य कर्ताधर्ता हैं।

सलामी बल्लेबाज सन्नी सोहाल के लगातार दो बार असफल होने के बाद पंजाब प्रबंधन डेक्कन के गेंदबाज ऑस्ट्रेलियाई रेयान हैरिस और आरपी सिंह का सामना करने के लिए संगकारा को ऑस्ट्रेलिया के साइमन कैटिच के साथ पारी का आगाज करने के बारे में विचार कर सकता है।



और भी पढ़ें :