हवाई यात्रियों को वाइन, चाकलेट भी नहीं

-वेबदुनिया डेस्

के इस दौर में एयर लाइन कंपनियाँ इस हद तक कटौती करने पर उतारू हो गई हैं कि इन नए उपायों के चलते या‍त्रियों को यात्रा के दौरान वाइन और चॉकलेट मिलने की सुविधा पर भी कैंची चल गई है।


पहले तो यह था कि निचली श्रेणी में यात्रा करने पर सुविधाएँ कम होती हैं, लेकिन अब तो स्थिति यह आ गई है कि अच्‍छी श्रेणी से यात्रा करने वालों के लिए खान-पान पर सख्‍त अंकुश लगा दिया गया है। बिजनेस और फर्स्ट क्लास में यात्रा करने वालों के लिए यह सुविधा नहीं दी जा रही है।

एयर इंडिया की अंतरराष्ट्रीय उड़ानों में जो वाइन परोसी जाती थी, उनमें शैम्पेन और जॉनी वाकर ब्ल्यू लेवल जैसी वाइन शामिल रही है, लेकिन अब इन्हें नहीं परोसा दिया जाएगा। खाने के पदार्थों की मात्रा भी कम की जा रही है। हालाँकि विमानन कंपनियों के अधिकारी कहते हैं कि यह सब बदलाव अस्थायी या तात्कालिक है और इसे किसी भी तरह से समाप्त नहीं किया गया है।

एयरलाइन कंपनियों ने खाने में मिठाई की मात्रा कम करने की शुरुआत कर दी है। उल्लेखनीय है कि एयर इंडिया की सभी घरेलू उड़ानों में टॉफी देना बंद कर दिया गया है। इतना ही नहीं, अंतरराष्ट्रीय उड़ानों में भी महँगे चॉकलेट और बेकरी उत्पादों को यात्रियों को उपलब्ध ना करने का फैसला किया है।



और भी पढ़ें :