ज्ञानेन्द्र की संपत्तियों का राष्ट्रीयकरण

काठमांडू (वार्ता)| वार्ता|
नेपाल सरकार ने सोमवार को नेपाल नरेश ज्ञानेंद्र की कुछ और संपत्तियों का राष्ट्रीयकरण करने का फैसला किया।


प्रमुख अखबार कांतिपुर की वेबसाइट के अनुसार मंत्रिमंडल ने नरेश की संपत्ति के राष्ट्रीयकरण के लिए गठित मंत्रिस्तरीय समिति की रिपोर्ट को मंजूरी प्रदान करते हुए नरेश की और संपत्तियों को राष्ट्रीयकृत करने की प्रक्रिया में तेजी लाने का फैसला किया।

चुनाव स्थगित होने के बाद पहली बार हुई मंत्रिमंडल की बैठक में राष्ट्रीयकृत संपत्तियों को राष्ट्र के हित में खर्च करने के लिए एक न्यास गठित करने का भी फैसला लिया गया।
उल्लेखनीय है कि दिवंगत नरेश बीरेंद्र की संपत्ति तथा नरेश ज्ञानेंद्र को विरासत के तौर पर मिली संपत्ति के राष्ट्रीयकरण के लिए 20 अगस्त को गृहमंत्री कृष्ण प्रसाद सितौला के नेतृत्व में एक मंत्रिस्तरीय समिति गठित की गई थी। समिति ने 23 अगस्त को नारायणहिति राजमहल, लामजुंग दरबार, और हनुमानढोका को राष्ट्रीयकृत करने की अनुशंसा की थी।



और भी पढ़ें :