लक्ष्मी मित्तल को 'फोर्ब्स' पुरस्कार

नई दिल्ली (भाषा)| भाषा|
अमेरिकी कारोबार पत्रिका 'फोर्ब्स' ने कहा कि भारत में जन्मे इस्पात सम्राट लक्ष्मी मित्तल को तीसरा 'फोर्ब्स' लाइफटाइम अचीवमेंट पुरस्कार दिया जा रहा है, जो उद्यमी, पूँजीवाद और मुक्त उपक्रम के नायकों का सम्मान करती है।

मित्तल को यह पुरस्कार आज रात सिंगापुर में हो रहे 'फोर्ब्स' वैश्विक मुख्य कार्याधिकारी सम्मेलन में दिया जाएगा और उम्मीद है कि इसमें विश्व भर के 450 से अधिक कारोबारी प्रमुख भाग लेंगे, जिनकी संयुक्त संपत्ति 160 अरब डॉलर की होगी।

इस साल मार्च की शुरुआत में फोर्ब्स ने विश्व के सबसे अमीर अरबपतियों की सालाना सूची में मित्तल को 45 अरब डॉलर की संपत्ति के साथ चौथा सबसे अमीर व्यक्ति करार दिया था।
भारत के राजस्थान में जन्मे मित्तल ने 1976 में मित्तल स्टील कंपनी, जिसे पहले एलएनएम समूह के तौर पर जाना जाता था, की स्थापना की थी।

कंपनी ने बाद में विश्व भर में कई कंपनियों का अधिग्रहण किया जिनमें अमेरिका का इंटरनेशनल स्टील समूह शामिल है और 2006 में विश्व के सबसे बड़े इस्पात उत्पादक के आर्सेलर के अधिग्रहण के साथ यह विश्व की सबसे बड़ी इस्पात कंपनी बन गई।
फोर्ब्स ने कहा कि इस साल के तीन दिवसीय सम्मेलन का थीम है 'द विनिंग हैंड' और इसमें अमेरिकी चुनाव रीयल एस्टेट चीन भारत और उद्यमिता जैसे मसलों और वैश्विक अनिश्चितता के बारे में चर्चा की जाएगी।

इस सम्मेलन को टीसीएस के कार्याधिकारी और प्रबंध निदेशक एस रामादोरई जेएसडब्लयू स्टील के उपाध्यक्ष और प्रबंध निदेशक सज्जन जिंदल, सुजलान एनर्जी के अध्यक्ष और प्रबंध निदेशक तुलसी तांती संबोधित करेंगे। सिंगापुर के प्रधानमंत्री ली सीन लूंग स्वागत भाषण देंगे।



और भी पढ़ें :