प्रेम कविता : खूबसूरत एहसास

फाल्गुनी

स्मृति आदित्य|
ND
पांच पीले वासंती फूल नहीं,
तुमने मुझे दिए पांच
अनकहे
जो अब हर वसंत में
मुझे मेरी नजर में बनाएंगे सबसे खास
फूलों के साथ
तुम मुस्कुराओगे
मेरे आस-पास...



और भी पढ़ें :