आज भी दर्शकों के बीच लोकप्रिय हैं गोविंदा : अनुज शर्मा

Govinda
PR
‘नॉटी एट 40’ किस तरह फिल्म है?
यह ऐसे इंसान की कहानी है जिसकी उम्र 40 वर्ष हो गई है, लेकिन उसकी अब तक शादी नहीं हुई है। दोस्तों के बीच वह हँसी का पात्र बनता है। लंदन से भारत शादी के लिए वह लड़की की तलाश में आता है। इन सारी बातों को हास्य की चाशनी में डूबोकर दिखाया गया है।

आजकल अश्लील और फूहड़ हास्य फिल्मों का बोलबाला है। आपकी फिल्म में भी क्या इसी तरह का हास्य है?
बिलकुल नहीं। यह एक ऐसी फिल्म है जिसे देख पूरा परिवार आनंद उठा सकता है। इसमें किसी किस्म का तनाव नहीं है। फिल्म देखते समय आप सारे दु:ख-दर्द भूल जाएँगे और दर्शकों को लगेगा कि उनके पूरे पैसे वसूल हो गए हैं।

जगमोहन मूँदड़ा और गोविंदा का कॉम्बिनेशन थोड़ा अजीब लग रहा है क्योंकि मूँदड़ा गंभीर किस्म की फिल्में बनाते हैं और गोविंदा की फिल्में उनसे एकदम जुदा होती हैं?
इस कॉम्बिनेशन को मैं फिल्म की खासियत कहूँगा। दरअसल जगमोहन एक कॉमेडी फिल्म बनाना चाहते थे। मेरे पास ‘नॉटी एट 40’ का विषय तैयार था। जगमोहन से मुलाकात हुई तो मैंने अपनी फिल्म के बारे में बताया। वे तुरंत इसे निर्देशित करने के लिए तैयार हो गए। रहा सवाल गोविंदा का तो उन्हें मैं भारत के बेहतरीन हास्य कलाकारों में गिनता हूँ और फिल्म की कहानी और किरदार से वे ही न्याय कर सकते थे।

लेकिन गोविंदा की स्टार वैल्यू पहले जैसी नहीं है?
समय ताम्रकर|

गोविंदा को स्क्रीन पर कॉमेडी करते देखना दर्शक पसंद करते हैं, इसलिए गोविंदा की हिट फिल्मों में कॉमेडी की संख्या ज्यादा है। इसी बात को ध्यान में रखकर निर्माता अनुज शर्मा ने ‘नॉटी एट 40’ फिल्म का निर्माण किया है, जो जल्दी ही रिलीज होने वाली है। पेश है अनुज से बातचीत :

यह कहना सही नहीं होगा। कुछ वर्षों पहले उन्होंने ‘पार्टनर’ जैसी हिट फिल्म दी है। वे आज भी दर्शकों के बीच लोकप्रिय हैं। हमने फिल्म में उन्हें उसी रूप में पेश किया है, जैसा कि दर्शक उन्हें देखना चाहते हैं। वैसे भी हमने कलाकारों का चयन स्क्रिप्ट की माँग के अनुसार ही किया है। हीरोइन के रूप में हमें युवा कलाकार चाहिए थी, इसलिए युविका को लिया गया।



और भी पढ़ें :