ऐसे प्राप्त करें अँग्रेजी पर अधिकार

ND|
-प्रतिभा अग्निहोत्र
निश्चित ही हमें राष्ट्रभाषा हिन्दी पर और अपनी मातृभाषाओं पर गर्व है। परंतु वैश्वीकरण के इस जमाने में एक और भाषा अँग्रेजी का ज्ञान लाभदायक हो सकता है। आइए जानें ऐसे ही कुछ उपाय जिनको अपनाकर आप अँगरेजी भाषज्ञान में सुधासकतहैं

शब्दकोष बढ़ाएँ
अँग्रेजी भाषा बोलने में सबसे बड़ी कठिनाई आती है कि जब आप बोलना चाहते हैं तो बोलने के लिए शब्द ही नहीं सूझते, जुबान पर मानो ताला लग जाता है। इसके लिए आप अपनी वाकैबलरी यानी शब्दकोष को बढ़ाएँ। प्रतिदिन डिक्शनरी में से 5 नए शब्द अपनी डायरी में नोट करेंऔर याद करें। इस प्रकार आप एक माह में 150 नए शब्दों से परिचित हो जाएँगे।
अँग्रेजी साहित्य पढ़ें
किसी भी भाषा का ज्ञान बढ़ाने के लिए आवश्यक है कि आप उस भाषा के साहित्य को अधिकाधिक पढ़ें। प्रतिदिन अँगरेजी का अखबार पढ़ने की आदत का विकास करें। शुरुआत में आप टिंकल चंपक, चंदामामा जैसी सरल भाषा वाली पत्रिकाओं के अँगरेजी संस्करण का अध्ययन करें। फिर बाद में उपन्यास आदि का अध्ययन करें। इससे आपके भाषा ज्ञान में वृद्धि होगी।
संकोच त्यागें
आपको अपना ज्ञान बढ़ाने के लिए यदि किसी से भी कुछ पूछना पड़े तो उसमें कतई न शरमाएँ। हमेशा याद रखें कि सीखने की कोई उम्र नहीं होती। मेरी बहन धाराप्रवाह इंग्लिश नहीं बोल पाती थी।

उन्हीं दिनों उसकी एक ऐसे परिवार से दोस्ती हुई जहाँ अँगरेजी आमतौर पर बोली जाती थी। उन दिनों वह अँगरेजी स्पीकिंग में आने वाली प्रत्येक कठिनाई को उनसे पूछकर हल कर लेती थी। आज वह फर्राटेदार अँगरेजी बोलती है। आप भी ऐसे लोगों को अपना दोस्त बनाएँ जिनको अँगरेजी भाषा का भली-भाँति ज्ञान हो।




और भी पढ़ें :