गुरुवार, 25 अप्रैल 2024
  • Webdunia Deals
  1. समाचार
  2. मुख्य ख़बरें
  3. उत्तर प्रदेश
  4. Akhilesh Yadav question in Manish Gupta case
Written By
Last Modified: शुक्रवार, 1 अक्टूबर 2021 (10:56 IST)

मनीष गुप्ता केस में अखिलेश ने उठाए सवाल, जीरो टॉलरेंस को बताया भाजपा का जुमला

मनीष गुप्ता केस में अखिलेश ने उठाए सवाल, जीरो टॉलरेंस को बताया भाजपा का जुमला - Akhilesh Yadav question in Manish Gupta case
लखनऊ। समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने गोरखपुर में कारोबारी मनीष गुप्ता की मौत के मामले में आरोपी पुलिसकर्मियों की गिरफ्तारी नहीं होने पर उत्तर प्रदेश सरकार को घेरा। उन्होंने कहा कि इसके पीछे 'वसूली तंत्र' से जुड़े होने की पूरी आशंका है।
 
अखिलेश यादव ने ट्वीट किया, 'मनीष गुप्ता हत्याकांड’ में पुलिसवालों की गिरफ्तारी नहीं होना ये दर्शाता है कि वो फरार नहीं हुए हैं उन्हें फरार कराया गया है। दरअसल कोई आरोपियों को नहीं बल्कि खुद को बचा रहा है क्योंकि इसके तार ‘वसूली-तंत्र’ से जुड़े होने की पूरी आशंका है। ‘जीरो टालरेंस’ भी भाजपाई जुमला है।'
 
गौरतलब है कि सोमवार देर रात को गोरखपुर जिले के रामगढ़ ताल इलाके में पुलिस ने एक होटल में तलाशी ली थी। आरोप है कि किसी अन्य व्यक्ति के पहचान पत्र के आधार पर होटल के एक कमरे में रुके तीन व्यवसायियों से पूछताछ के दौरान पुलिस ने उन्हें मारा पीटा था। सिर में चोट लगने से उनमें से मनीष गुप्ता (36) नामक कारोबारी की गोरखपुर मेडिकल कॉलेज में मौत हो गई थी।
 
मामले में आरोपी सभी छह पुलिसकर्मियों के खिलाफ हत्या का मामला दर्ज कर उन्हें निलंबित कर दिया गया है। घटना के वक्त गुप्ता अपने 2 दोस्तों के साथ होटल में ठहरे हुए थे।
 
अखिलेश ने गुरुवार को मनीष की पत्नी मिनाक्षी से मुलाकात की थी। उन्होंने इस मामले में हाईकोर्ट के सिटिंग जज से जांच कराने की मांग की थी।
 
उत्तरप्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने गोरखपुर में पुलिस की कथित पिटाई से मारे गए प्रॉपर्टी डीलर के परिजनों से मुलाकात कर उन्हे न्याय दिलाने का आश्वासन दिया। उन्होंने कहा कि दोषी किसी भी सूरत में बख्शे नहीं जाएंगे। पूरे मामले की निष्पक्ष जांच की जाएगी। सरकार का प्रयास होगा कि पूरा मामला फास्ट ट्रैक कोर्ट में चले ताकि दोषियों को जल्द ही उनके अंजाम तक पहुंचाया जा सके।
ये भी पढ़ें
CoronaVirus India Update : फिर बढ़े कोरोना के नए मामले, 196 दिन में सबसे कम एक्टिव मरीज