ऑस्ट्रेलियाई रग्बी और फुटबॉल खिलाड़ियों ने पलंग तोड़े, फ्लाइट में की उल्टियां,होगी कार्यवाही

Last Updated: बुधवार, 4 अगस्त 2021 (20:26 IST)
ऑस्ट्रेलियाई क्रिकेट टीम द्वारा किए गए दुर्व्यवहार से तो ज्यादातर क्रिकेट फैंस वाकिफ होंगे लेकिन टोक्यो में उनके एथलीट्स की बदसलूकी की खबरें सामने आ रही है। सूत्रों के मुताबिक कमरे से लेकर फ्लाइट तक यह बेहूदगी ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ियों ने की। कमरों की दीवारों में छेद करने से लेकर फ्लाइट में उल्टी करने तक।

ऑस्ट्रेलिया के रग्बी और खिलाड़ियों ने तोक्यो से सिडनी लौटने वाली उड़ान में जमकर शराब पी और बदसलूकी भी की जिसकी देश के ओलंपिक दल प्रमुख इयान चेस्टरमैन ने जमकर निंदा की है।

चेस्टरमैन ने बुधवार को बताया कि इन खिलाड़ियों ने वापसी की उड़ान में खराब बर्ताव किया और स्टाफ की बात नहीं मानी । उन्होंने कहा कि खिलाड़ियों ने खूब शराब पी और एक ने टॉयलेट में उल्टी भी की।

ये खिलाड़ी गुरूवार 29 जुलाई की शाम से ही पार्टी कर रहे थे और शुक्रवार को उन्हें सिडनी रवाना होना था।

चेस्टरमैन ने बताया कि जापान एयरलाइन की उड़ान में आस्ट्रेलिया के 49 खिलाड़ी थे । उनके पास इसका ब्यौरा नहीं है कि परेशानी किन खिलाड़ियों ने खड़ी की।

खिलाड़ियों के इस बर्ताव की ऑस्ट्रेलिया के दल प्रमुख इयान चेस्टरमैन ने निंदा की है। उन्होंने बताया कि इन खिलाड़ियों ने फ्लाइट में बदसलूकी तो की ही साथ मे स्टाफ की बात भी नहीं मानी।

चेस्टरमैन ने ना ही उन एथलीट के नाम बताए ना ही उन पर कार्यवाही की कोई बात करी। बल्कि उन्होंने यह कहा कि नुकसान काफी छोटा हुआ और कार्डबोर्ड के पलंग तो कोई भी तोड़ सकता है।

चेस्टरमैन ने कहा युवा खिलाड़ियों से गलती तो हुई है उनको अपने कमरे को उस हाल में नहीं छोड़ना चाहिए था जिस हाल में छोड़ा गया। इन खिलाड़ियो को 29 जुलाई को सिडनी रवाना होना था और इसके बाद से ही वह पार्टी कर रहे थे।

उन्होंने यकीन जताया कि आस्ट्रेलियाई रग्बी और फुटबॉल महासंघ उनके खिलाफ कार्रवाई करेंगे।

स्वदेश लौटे ऑस्ट्रेलियाई ओलंपिक टीम के सदस्य क्वारंटीन

में नौ स्वर्ण पदक जीत कर स्वदेश लौटे ऑस्ट्रेलिया के स्टार ओलंपिक तैराकों समेत ओलंपिक टीम के 100 से अधिक सदस्य को 14 दिन के लिए अनिवार्य रूप से क्वारंटीन किया गया हैं।

टोक्यो से रवाना होने से पहले 200 और 400 मीटर फ्रीस्टाइल में स्वर्ण पदक विजेता एरियन टिटमस ने कहा कि वह कोरोना महामारी के बीच ओलंपिक में प्रतिस्पर्धा करने का अवसर मिलने के लिए आभारी हैं। ऑस्ट्रेलियाई ओलंपिक समिति (एओसी) ने कहा कि कुल 853 एथलीट और सहयोगी स्टाफ जापान से वाणिज्यिक और क्वांटास चार्टर्ड उड़ानों के जरिए 26 जुलाई से 14 अगस्त के बीच स्वदेश लौटेंगे।

ऑस्ट्रेलियाई ओलंपिक समिति (एओसी) के मुख्य कार्यकारी अधिकारी (सीईओ) मैट कैरोल ने मंगलवार की रात जारी बयान में कहा, “ वापसी करने वाली टीम के सदस्यों को विदेशों से लौटने ऑस्ट्रेलियाई नागरिकों के अंतरराष्ट्रीय आगमन के क्षेत्र में नहीं लाया जाएगा। ऑस्ट्रेलिया ओलंपिक टीम के एथलीट और अधिकारी अंतरराष्ट्रीय आगमन कोटे में शामिल नहीं हैं जो राष्ट्रीय कैबिनेट द्वारा निर्धारित किया गया है। भले ही टीम के सदस्यों को वैक्सीन लगाई गई है और खेलों में हर दिन उनका कोरोना टेस्ट किया गया है, लेकिन उन्हें अन्य ऑस्ट्रेलियाई नागरिकों की तरह स्वदेश लौटने पर 14 दिनों के लिए क्वारंटीन में रहना होगा और प्रत्येक राज्य और क्षेत्र की आवश्यकताओं के अनुसार नियमित परीक्षण से गुजरना होगा। ”

आम तौर पर टीम के वापस आने के बाद उत्साहजनक भीड़ और परिवार के साथ भावनात्मक पुनर्मिलन होता है, लेकिन इस बार एथलीटों की मुलाकात मास्क लगाए अधिकारियों और पुलिसकर्मियों से हुई। इस दौरान उनका तापमान जांचा गया तथा कागजी कार्रवाई की जांच की गई।

कैरोल ने कहा, “ हमें अस्वीकार्य व्यवहार की खबरों के बारे में पता है, जिसमें 30 जुलाई को जापान से सिडनी की उड़ान में रग्बी और फुटबॉल टीम के सदस्य शामिल थे। एयरलाइन से कोई औपचारिक शिकायत नहीं मिली है, लेकिन अस्वीकार्य व्यवहार हमारे ध्यान में लाया गया है और मैंने सीधे हमारे सदस्य खेल सीईओ के सामने यह मुद्दा उठाया है। यह बेहद निराशाजनक है, लेकिन रग्बी और फुटबॉल टीम दोनों ने मुझे बताया है कि इस तरह का व्यवहार निश्चित रूप से उनके खेल में स्वीकार्य नहीं है और मैंने ईमानदारी से ऑस्ट्रेलियाई ओलंपिक टीम से माफी मांगी है। ”

उल्लेखनीय है कि ऑस्ट्रेलिया तैराकों ने इस बार नौ स्वर्ण पदक जीत कर इतिहास रचा है। स्वर्ण पदकों की यह संख्या पिछले दो ओलंपिक खेलों की संख्या से भी अधिक है। इस रिकॉर्ड ने मेलबोर्न में 1956 के घरेलू ओलंपिक में तैराकी में आठ स्वर्ण पदक जीतने के रिकॉर्ड को भी तोड़ा है।



और भी पढ़ें :