केंद्रीय कर्मचारियों का महंगाई भत्ता बढ़ने से सेंसेक्स 646 अंक उछला

Last Updated: बुधवार, 9 अक्टूबर 2019 (17:58 IST)
मुंबई। सरकारी कर्मचारियों तथा पेंशन भोगियों का महंगाई भत्ता बढ़ाने से उपभोग में तेजी आने की उम्मीद में बुधवार को घरेलू शेयर बाजारों में करीब पौने 2 प्रतिशत की जबरदस्त तेजी रही। बीएसई का 30 शेयरों वाला संवेदी सूचकांक सेंसेक्स 645.97 अंक यानी 1.72 प्रतिशत की छलांग लगाकर 1 अक्टूबर के बाद के उच्चतम स्तर 38,177.95 अंक पर बंद हुआ। नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी 186.90 अंक यानी 1.68 प्रतिशत चढ़कर 3 अक्टूबर के बाद के उच्चतम स्तर 11,313.30 अंक पर पहुंच गया।
केंद्रीय मंत्रिमंडल ने बुधवार को सरकारी कर्मचारियों और पेंशन भोगियों का महंगाई भत्ता 5 प्रतिशत बढ़ाने के प्रस्ताव को मंजूरी दी। बढ़ा हुआ महंगाई भत्ता 1 जुलाई से लागू होगा। सरकार के इस फैसले से आम लोगों के पास खर्च करने के लिए ज्यादा पैसा होगा। इससे उपभोग बढ़ने की उम्मीद है। सरकार एक साल से सुस्त पड़ रही अर्थव्यवस्था को गति देने के लिए उपभोग बढ़ाने के प्रयास लगातार कर रही है।

इसी क्रम में पिछले दिनों सरकारी बैंकों ने शिविर लगाकर आसान ऋण बांटने का भी प्रयास किया। सरकार के फैसले से बैंकिंग और वित्तीय क्षेत्रों में सबसे ज्यादा तेजी देखी गई। बीएसई में बैंकिंग समूह का सूचकांक साढ़े 3 प्रतिशत से ज्यादा चढ़ा। वित्त समूह में करीब 3 फीसदी, धातु में 2 प्रतिशत से ज्यादा और रियलिटी तथा बुनियादी वस्तुओं में करीब 2 फीसदी की तेजी देखी गई।

सेंसेक्स की कंपनियों में इंडसइंड बैंक के शेयर करीब साढ़े 5 फीसदी, एयरटेल के सवा 5 फीसदी और आईसीआईसीआई बैंक तथा भारतीय स्टेट बैंक के करीब 5 फीसदी चढ़े। हालांकि येस बैंक में सवा 5 प्रतिशत की गिरावट देखी गई। मझौली और छोटी कंपनियों में लिवाली अपेक्षाकृत कम रही।

बीएसई का मिडकैप 1.38 प्रतिशत चढ़कर 13,869.35 अंक पर और स्मॉलकैप 0.66 प्रतिशत की बढ़त में 12,796.47 अंक पर बंद हुआ। बीएसई में कुल 2,698 कंपनियों के शेयरों में कारोबार हुआ, जिनमें 1,281 कंपनियों के शेयर हरे और 1,237 के लाल निशान में बंद हुए, जबकि 180 कंपनियों के शेयर दिनभर के उतार-चढ़ाव के बाद अंतत: अपरिवर्तित रहे।

 

और भी पढ़ें :