श्रावण में जपें शिव के ये 15 मंत्र, चारों तरफ से मिलेगी सफलता

Shravan Mantra
Shravan Mantra

में भोलेनाथ शिव की पूजा आराधना की जाती है। सुख, शांति, धन, समृद्धि, सफलता, प्रगति, संतान, प्रमोशन, नौकरी, विवाह, प्रेम और बीमारी सभी के लिए श्रावण में इन मंत्रों को अवश्य जपें।

यहां प्रस्तुत है श्रावण मास के 15 ऐसे मंत्र जिनका जप जीवन में हर तरह की शुभता, अनुकूलता और प्रगति लाता है।

शिव के 15 चमत्कारिक मंत्र-

1. ॐ शिवाय नम:

2. ॐ सर्वात्मने नम:

3. ॐ त्रिनेत्राय नम:

4. ॐ हराय नम:

5. ॐ इन्द्रमुखाय नम:

6. ॐ श्रीकंठाय नम:

7. ॐ वामदेवाय नम:

8. ॐ तत्पुरुषाय नम:

9. ॐ ईशानाय नम:

10. ॐ अनंतधर्माय नम:

11. ॐ ज्ञानभूताय नम:

12. ॐ अनंतवैराग्यसिंघाय नम:

13. ॐ प्रधानाय नम:

14. ॐ व्योमात्मने नम:

15. ॐ युक्तकेशात्मरूपाय नम:

इस शिव गायत्री मंत्र के साथ इन मंत्रों का जप अत्यंत शुभ फलदायक माना गया है।

शिव गायत्री मंत्र : ॐ तत्पुरुषाय विद्महे, महादेवाय धीमहि, तन्नो रूद्र प्रचोदयात्।।

आप किसी भी तरह के कर्ज में डूबे हुए हैं तो शिवजी को प्रणाम करते हुए 15 मंत्रों का जप करें। कर्ज निश्चित रूप से उतरेगा।




और भी पढ़ें :