रामापीर : चमत्कारिक संत बाबा रामदेव के 5 परचे...

अनिरुद्ध जोशी 'शतायु'|
राम सरोवर : पश्चिम राजस्‍थान में पेयजल संकट को देखते हुए रामदेवजी ने विक्रम संवत् 1439 में एक तालाब खुदवाया जिसे आज उनके नाम से 'रामसरोवर' कहा जाता है। मंदिर के पीछे की तरफ रामसरोवर तालाब है। यह लगभग 150 एकड़ क्षेत्र में फैला हुआ है एवं 25 फुट गहरा है। बारिश से पूरा भरने पर यह सरोवर बहुत ही रमणीय स्थल बन जाता है।
इसके पश्चिम छोर पर अद्भुत आश्रम व पाल के उत्तरी सिरे पर बाबा रामदेवजी की जीवित समाधि है। पाल के इसी हिस्‍से में भक्‍त शिरोमणि डाली बाई की भी जीवित समाधि है।


अगले पन्ने पर परचा बावड़ी...



और भी पढ़ें :