रामापीर : चमत्कारिक संत बाबा रामदेव के 5 परचे...

अनिरुद्ध जोशी 'शतायु'|
रुणिचा : संवत् 1425 में रामदेव जी महाराज ने पोकरण से 12 किलोमीटर दूर उत्तर दिशा में एक गांव की स्थापना की जिसका नाम रुणिचा रखा। लोग आकर रुणिचा में बसने लगे। रुणिचा गांव बड़ा सुन्दर और रमणीय बन गया। राजस्थान के जेसलमेर जिले में यह गांव आता है। जेसलमेर तक देश के किसी भी कोने से ट्रेन से पहुंचा जा सकता है।
पपोकरण या पोखरण, रामदेवरा से 12 किमी दूरी एवं जैसलमेर से 110 किमी दूरी पर स्थित है जैसलमेर-जोधपुर मार्ग पर पोकरण प्रमुख कस्बा हैं। लाल पत्थरों से निर्मित सुन्दर दुर्ग पोकरण में है। सन् 1550 में राव मालदेव ने इसका निर्माण कराया था। के गुरुकुल के रूप में यह स्थल विख्यात हैं।



और भी पढ़ें :