शकुनि मामा थे कौरवों के दुश्मन!

अनिरुद्ध जोशी| Last Updated: मंगलवार, 12 जून 2018 (17:28 IST)
शकुनि गांधार नरेश राजा सुबाल के पुत्र थे। शकुनि का जन्म गांधार के राजा सुबाल के राजप्रासाद में हुआ था। वह माता गांधारी का छोटा भाई था। वह जन्म से ही विलक्षण बुद्धि का स्वामी था अतः राजा सुबाल को अत्यंत प्रिय था।

कई छोटे-छोटे राज्य मिलकर आर्याना क्षेत्र बना था। इसी क्षेत्र में था गांधार राज्य। आज के उत्तर अ‍फगानिस्तान को उस काल में गांधार कहा जाता था, जो कि कम्बोज के पास था। गांधार राज्य में ही हिन्दूकुश पर्वतमाला थी। कंदहार या कंधार गांधार का ही अपभ्रंश है।

कौरवों को छल व कपट की राह सिखाने वाले शकुनि उन्हें पांडवों का विनाश करने में पग-पग पर मदद करते थे, लेकिन उनके मन में कौरवों के लिए केवल बदले की भावना थी।
अगले पन्ने पर जारी...




और भी पढ़ें :