भारत में 'एलियंस' के उतरने के सात स्थान, जानिए

Author अनिरुद्ध जोशी|
द्वारिका : के अवशेषों की खोज करने वाले वैज्ञानिक कहते हैं कि द्वारिका का निर्माण एलियंस ने किया था। इस नगर पर एलियंसों ने ही हमला करके इस नष्ट कर दिया था। माना जाता है कि श्रीकृष्ण के यहां आने के पूर्व इसे कुश स्थली कहते थे। यह नगर पहले से ही जल में डूबा हुआ था।
गुजरात के तट पर भगवान श्रीकृष्ण की बसाई हुई नगरी यानी द्वारिका। इस जगह का धार्मिक महत्व तो है ही, रहस्य भी कम नहीं है। कहा जाता है कि कृष्ण की मृत्यु के साथ उनकी बसाई हुई यह नगरी समुद्र में डूब गई। आज भी यहां उस नगरी के अवशेष मौजूद हैं, लेकिन प्रमाण आज तक नहीं मिल सका कि यह क्या है? विज्ञान इसे महाभारतकालीन निर्माण नहीं मानता।> > काफी समय से जाने-माने शोधकर्ताओं ने यहां पुराणों में वर्णित द्वारिका के रहस्य का पता लगाने का प्रयास किया, लेकिन वैज्ञानिक तथ्यों पर आधारित कोई भी अध्ययन कार्य अभी तक पूरा नहीं किया गया है। 2005 में द्वारिका के रहस्यों से पर्दा उठाने के लिए अभियान शुरू किया गया था। इस अभियान में भारतीय नौसेना ने भी मदद की।
अभियान के दौरान समुद्र की गहराई में कटे-छंटे पत्थर मिले और यहां से लगभग 200 अन्य नमूने भी एकत्र किए, लेकिन आज तक यह तय नहीं हो पाया कि यह वही नगरी है अथवा नहीं जिसे भगवान श्रीकृष्ण ने बसाया था। आज भी यहां वैज्ञानिक स्कूबा डायविंग के जरिए समंदर की गहराइयों में कैद इस रहस्य को सुलझाने में लगे हैं।

अगले पन्ने पर रहस्यमय मंदिर...




और भी पढ़ें :