हर दुआ में हमने…

जनकसिंह झाला|
हमें फॉलो करें
हर दुआ में हमने उनको शामिल किया,
इन धड़कनों ने भी सिर्फ उनका नाम लिया,

फिर भी ना मिल पाए वो इस जहाँ में,
जिसका हमने आखिर तक इंतजार किया...।

बस गए अब तो वो सिर्फ अहसासों में,
ख्वाब देखे थे जिनके कभी दिन-रातों में,

साया भी नहीं छोड़ कर गए वह हरजाई सिमट जाती जिसमें हमारी तन्हाई...।

में उनके मैं दीवाना हुआ,
इस जिंदगी का समाँ भी सुहाना हुआ,
लेकिन न आए वो, न आई उनकी खुशबू
यादों ही यादों में पूरा अफसाना हुआ...।



और भी पढ़ें :