हिन्दुओं के 8 कर्तव्य, जानिए..

om
Last Updated: मंगलवार, 9 सितम्बर 2014 (09:17 IST)
हमें फॉलो करें
कर्तव्यों का विशद विवेचन धर्मसूत्रों तथा स्मृतिग्रंथों में मिलता है। कर्तव्यों के पालन करने से चित्त और घर में शांति मिलती है। चित्त और घर में शांति मिलने से मोक्ष व समृद्धि के द्वार खुलते हैं। दुख: है तो दुख से मुक्ति का उपाय भी ही है। तो आओ जानें कि कर्तव्य क्या है।
1.संध्योपासन
2.व्रत
3.तीर्थ
4.उत्सव
5.सेवा
6.दान
7.यज्ञ
8.संस्कार


उक्त कर्तव्यों में हिंदू की समस्त विचारधारा के कर्तव्यों का समावेश हो जाता है। वेद, पुराण, गीता और स्मृतियों में इन्हीं कर्तव्यों के अलग-अलग नाम और विस्तार की बातें होने से भ्रम की स्थिति होती है, लेकिन हैं सभी एक ही। जैसे कि वेदों में बताए पांच यज्ञों में से एक पितृयज्ञ को ही पुराणों में श्राद्ध कहा जाता है।
वेबदुनिया हिंदी का एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें। ख़बरें पढ़ने और राय देने के लिए हमारे फेसबुक पन्ने और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।



और भी पढ़ें :