खेत में छोड़ दिया था करंट, हाथी की हो गई मौत, आरोपी जेल में

Last Updated: मंगलवार, 17 सितम्बर 2019 (00:36 IST)
कोटद्वार। के के झंडीचौड़ पूर्वी गांव में एक हाथी की लगने से हो गई थी। मामले की छानबीन के बाद वन विभाग ने एक व्यक्ति को गिरफ्तार कर यहां के एसीजेएम कोर्ट में पेश किया था, जहां से उसे पौड़ी भेज दिया गया।
ALSO READ:
छत्तीसगढ़ में हाथी बना जानलेवा, 2 लोगों को कुचलकर मार डाला
रेंज अधिकारी बृजबिहारी शर्मा ने यह जानकारी देते हुए बताया कि जिस दिन हाथी की मौत हुई थी, उसी दिन ही बीट प्रभारी डबल सिंह की ओर से अज्ञात व्यक्ति के खिलाफ भारतीय वन्यजीव संरक्षण अधिनियम के तहत मामला दर्ज किया गया था और मामले की जांच चल रही थी।

पोस्टमार्टम रिपोर्ट में भी करंट से ही हाथी की मौत का कारण करंट लगना बताया गया। जांच-पड़ताल के बाद घटनास्थल के पास से एक काश्तकार सुरेशानंद भारद्वाज पुत्र गीताराम भारद्वाज को गिरफ्तार कर लिया गया।
पूछताछ में पता चला कि उसने खेती को वन्यजीवों से बचाने के लिए घेरबाड़ पर करंट छोड़ रखा था और इसकी चपेट में हाथी आ गया। अधिकारी के अनुसार कोई भी व्यक्ति या संस्था वन सीमा से सटे क्षेत्रों में खेतों की तारबाड़ या घेरबाड़ में करंट नहीं छोड़ सकता है और ऐसा करना दंडनीय
अपराध है।



और भी पढ़ें :