इंदौर में CAA का विरोध कर रहे कम्युनिस्ट पार्टी के नेता ने खुद को लगाई आग, हालत गंभीर

Author विकास सिंह| Last Updated: शनिवार, 25 जनवरी 2020 (10:09 IST)
में कम्युनिस्ट पार्टी के बुजुर्ग सदस्य रमेश प्रजापति ने संदिग्ध परिस्थितयों में गीता भवन चौराहे पर आग लगा ली। रमेश प्रजापति को गंभीर हालत में एमवाय अस्पताल में भर्ती कराया गया है। डॉक्टरों के मुताबिक बुजुर्ग को 95 फीसदी से अधिक बर्न की हालत में अस्पताल में भर्ती कराया गया है जहां उनकी हालत क्रिटिकल बनी हुई है।

बताया जा रहा है कि कम्युनिस्ट पार्टी के सदस्य रमेश प्रजापति ने गीता भवन चौराहे पर खुद को आग लगाने से पहले लोगों को और NRC के में पर्चे बांटे और उसके बाद खुद को केरोसिन डालकर आग लगा ली। 75 वर्षीय बुजुर्ग को आग लगाते देखकर आसपास के लोग उनको बचाने के लिए दौड़े लेकिन तब तक रमेश प्रजापति गंभीर रुप से जल चुके थे। की सूचना पाकर मौके पर पहुंची पुलिस ने रमेश प्रजापत ने एंबुलेस से उनको एमवाय अस्पताल भेजा।

अस्पताल पहुंचे रमेश प्रजपति के साथी कैलाश के मुताबिक वो पिछले CAA का विरोध लंबे समय से कर रहे थे और लोगों को भी इसके विरोध के लिए जागरुक कर रहे थे। पिछले कई दिनों से रमेश प्रजपाति शहर के बड़वाली चौकी और माणिकबाग के धरने में शामिल होकर लोगों को कुछ किताबें और पर्चे भी बांटे थे। रमेश प्रजपति सरकारी सेवा से रिटायर्ड होने के बाद सक्रिय रूप से कम्युनिस्ट पार्टी से जुड़े थे। वहीं इस पूरे मामले पर अभी पुलिस कुछ भी कहने से बच रही है।

एमवाय में भी हंगामा – CAA के विरोध में कम्युनिस्ट पार्टी के सदस्य की आत्मदाह की खबर लगते हुए एमवाय अस्पताल में लोगों का देर रात तक जमावड़ा लगने लगा। देर रात तक बड़ी संख्या में यूथ कांग्रेस के कार्यकर्ता अस्पताल परिसर में जमे रहे। यूथ कांग्रेस अध्यतक्ष रमीज खान ने बताया कि प्रजापति ने खुद को आग लगाने से पहले CAA के खिलाफ नारे लगाए थे। वहीं एमवाय में राजनीतिक दलों के कार्यकर्ताओं के जमावड़े को देखते हुए
बड़ी संख्या में पुलिस बल तैनात किया गया है।



और भी पढ़ें :