सीएम योगी के प्रयासों का असर, काशी की गुलाबी मीनाकारी चाइनीज राखी को दे रही मात

Last Updated: बुधवार, 10 अगस्त 2022 (10:11 IST)
हमें फॉलो करें
वाराणसी। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के प्रयासों के चलते काशी की गुलाबी मीनाकारी राखी की देश विदेश में डिमांड बड़ गई है। इस राखी ने चाइनीज राखी को पछाड़ दिया है। दरअसल, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी के जीआई उत्पाद की मांग घरेलू व अंतरराष्ट्रीय बाजार में लगातार बढ़ रही है। यहीं ग़ुलाबी मीनाकारी से बने उत्पाद को मोदी-योगी ने बड़ा बाजार उपलब्ध करा दिया है। अब ये हैंडीक्राफ्ट उत्पाद चाइना के उत्पादों को भी मात देने लगे हैं। सैंकड़ों महिलाओं को इससे रोजगार भी मिला है।

खबरों के अनुसार राष्ट्रीय पुरस्कार विजेता कुंज बिहारी ने बताया कि गुलाबी मीनाकारी की राखी की मांग घरेलू और विदेशी मार्केट में बढ़ी है। राखी के अवसर पर अमेरिका समेत कई देशों और घरेलू बाजार से लगभग 10 लाख रुपए से अधिक का आर्डर मिला है। जिससे 500 से अधिक महलाओं को रोजगार मिला है। पार्ट टाइम काम करके महिलाएं प्रतिदिन 200 से 500 रुपए कमा ले रही हैं। चाइना की राखी की जगह इस बार बहनें अपने भाई की कलाई पर हैंडमेड गुलाबी मीनाकारी की राखी बांधना ज्यादा पसंद कर रही हैं।


मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने शिल्पियों के हुनर को बढ़ावा देने के लिए लोगों से अपील की थी कि वे त्योहारों और अन्य अवसरों पर अपने प्रियजनों को जीआई और ओडीओपी के उत्पाद उपहार में दें। वाराणसी के सांसद और देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भी काशी की गुलाबी मीनाकारी के उत्पादों को विदेशी दौरों पर अन्तरराष्ट्रीय नेताओं को तोहफे के रूप में जरूर देते हैं।

हाल ही में जी-7 शिखर सम्मेलन में भाग लेने पहुंचे पीएम मोदी अमेरिका के राष्ट्रपति को गुलाबी मीनाकारी से तैयार कॅफलिंग उपहार स्वरूप दी थी।

- एजेंसी



और भी पढ़ें :