राखी वही जो भैया के मन भाए

WDWD
रक्षाबंधन का त्योहार करीब आ रहा है और हर ओर दुकानें राखियों से सज रही हैं। किसी को बड़ी राखी पसंद है तो किसी को छोटी। कोई रंग-बिरंगी, चमकीली रा‍खियों की ओर आकृष्‍ट हो रहा है ‍तो किसी को चाँदी की राखियाँ लेनी हैं। हर ओर उत्सव का माहौल है और बहनें तत्परता से अपनी पसंद की राखियाँ अपने भाइयों के लिए खरीद रही हैं। इस बार की राखी पर बहनों के ‍‍लिए ढेर सारी राखियाँ बाजार में मौजूद हैं, जो वे अपने भाइयों की कलाई पर बाँध सकती हैं -

रेशम की राखियाँ- रेशम की रा‍खियों से पूरा बाजार अटा पड़ा है। हर कोई अपने पसंदीदा रंग की रेशम की राखियाँ खरीद रहा है। लाल, हरे, पीले, गुलाबी और न जाने कितने रंगों में तैयार की गई रेशम की ये राखियाँ काफी खूबसरत हैं और कम कीमत पर उपलब्ध हैं। खासकर छोटे बच्चों को ये राखियाँ काफी विशेष रूप से पसंद आने वाली हैं। भाभियों के लिए भी रेशम की ही बनी राखियाँ बड़े पैमाने पर खरीदी जा रही हैं।

जरी की राखियाँ- रेशम की ही बनी राखियों पर जरी का सुंदर काम रहता है। मोतियों और सितारों से जड़ी ये राखियाँ जितनी खूबसूरत दिखती हैं, कलाइयों पर भी ये उतनी ही फबती हैं। इसलिए महिलाएँ जरी वाली राखियाँ जरूर खरीदती हैं।

सोने-चाँदी की राखियाँ- जो बहनें अपने भाई को कुछ खास देना चाहती हैं, उनकी राखियाँ भी खास होती हैं। जैसे सोने और चाँदी की बनी खूबसूरत राखियाँ, जो दिखने के साथ-साथ खास होती भी हैं। ये राखियाँ 20 रुपए से लेकर 500 रुपए तक की मिल जाती हैं।

कुंदन की राखियाँ - खास राखियों में कुंदन से सजी हुई राखियाँ भी खूब पसंद की जाती हैं। चूडि़यों पर कुंदन से कारीगरी की जाती है और महिलाएँ उसे बहुत पसंद भी करती हैं। राखियों पर भी ऐसी ही आकर्षक कारीगरी की जाती है।

कार्टून राखियाँ - ये राखियाँ खासतौर से बच्चों के लिए तैयार की जाती हैं। यह सच भी है कि ये राखियाँ बच्चों को लुभाती हैं।

WD|
स्पंजी राखियाँ - इन राखियों की माँग पहले ज्‍यादा थी, लेकिन धीरे-धीरे लोगों की पसंद बदलती गई। अब लोगों को बड़े आकार की राखियाँ पसंद नहीं आती हैं, लेकिन पुरानी पीढ़ी के कुछ लोग आज भी इन्हीं राखियों को बाँधना पसंद करते हैं। ये राखियाँ काफी चौड़ी और चमकीली होती हैं, जिस पर भाइयों के लिए कोई संदेश लिखा होता है।



और भी पढ़ें :