ओबामा ने दिया एच-1बी वीजा मुद्दे पर गौर करने का आश्वासन

नई दिल्ली| भाषा|
नई दिल्ली। अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को आश्वासन दिया है कि वह अमेरिका में आव्रजन व्यवस्था में अपने व्यापक सुधार के तहत एच-1बी वीजा मुद्दे पर भारत की चिंताओं पर गौर करेंगे।
 
अमेरिकी अधिकारियों ने आज कहा कि ओबामा ने प्रधानमंत्री मोदी को बताया कि उनकी सरकार एच-1बी वीजा से जुड़े मुद्दों पर भारत सरकार के संपर्क में रहेगी। एच-1बी वीजा पर ज्यादातर भारतीय आईटी पेशेवर अमेरिका जाते हैं।
 
उप राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार बेन रोड्स ने ओबामा के साथ भारत आए अमेरिकी पत्रकारों को बताया, ‘मुझे लगता है कि राष्ट्रपति ने यह संकेत दिया है कि यह (एच-1बी वीजा) ऐसा मुद्दा जिसको हम आव्रजन कानून में व्यापक सुधार के तहत हल करना चाहते हैं। अमेरिकी संसद के साथ आव्रजन कानून में सुधार के लिए प्रयास चल रहे हैं और हम इस प्रकार के मुद्दों को उस प्रक्रिया में शामिल करेंगे और ऐसा करते समय हम भारत सरकार के साथ भी संपर्क में रहेंगे।’ 
 
दोनों नेताओं के बीच कल हुई द्विपक्षीय बातचीत के संबंध में पूछे जाने पर रोड्स ने कहा कि आव्रजन के कुछ पहलुओं पर भारत की चिंताओं को उच्चतम स्तर पर उठाया गया।
 
उन्होंने कहा, ‘उन्होंने (मोदी और ओबामा) अमेरिका में आव्रजन कानून में सुधार के संबंध में मौजूदा बहस पर चर्चा की।’ 
 
रोड्स ने कहा, ‘भारत सरकार ने इस मुद्दे को उठाया जैसा कि वे नियमित तौर पर करते रहे हैं। इसमें आमतौर पर एच-1बी वीजा मुद्दा शामिल है।’ पिछले साल नवंबर में अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा ने लाखों की संख्या में अवैध रूप से अमेरिका में काम कर रहे लोगों को प्रत्यर्पण से बचाने के लिए अमेरिका की ‘खंडित’ आव्रजन प्रणाली में सुधार के लिए जबरदस्त सुधार उपायों की घोषणा की थी।
 
इस योजना से अमेरिकी नागरिकों एवं वैध स्थायी निवासियों के माता-पिता को देश में अस्थायी तौर पर रहने दिया जाएगा। यह उपाय उन लोगों पर लागू होंगे जो पिछले पांच साल से अमेरिका में रह रहे हैं।  >
ऐसी और खबरें तुरंत पाने के लिए वेबदुनिया को फेसबुक https://www.facebook.com/webduniahindi पर लाइक और 
ट्विटर https://twitter.com/WebduniaHindi पर फॉलो करें। 
>



और भी पढ़ें :