सुषमा स्वराज को राष्ट्रपति, प्रधानमंत्री सहित मंत्रियों-नेताओं ने दी श्रद्धांजलि

पुनः संशोधित बुधवार, 7 अगस्त 2019 (08:16 IST)
नई दिल्ली। राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद, उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी समेत केंद्रीय मंत्रियों एवं प्रमुख राजनीतिक दलों के नेताओं ने पूर्व विदेश मंत्री के मंगलवार को निधन पर शोक जताया है।
राष्ट्रपति ने अपने शोक संदेश में कहा कि सुषमा स्वराज के निधन से बहुत दुःख हुआ है। देश ने अपनी एक अत्यंत प्रिय बेटी खोई है। सुषमा जी सार्वजनिक जीवन में गरिमा, साहस और निष्ठा की प्रतिमूर्ति थीं। लोगों की सहायता के लिए वे हमेशा तत्पर रहती थीं। उनकी सेवाओं के लिए सभी भारतीय उन्हें सदैव याद रखेंगे।

नायडू ने कहा कि पूर्व केंद्रीय मंत्री,वरिष्ठ नेता, प्रखर सांसद सुषमा स्वराजजी के असामयिक निधन से स्तब्ध हूं। देश ने आज एक ओजस्वी नेता और मैने एक निकट सहयोगी खो दिया है। नि:शब्द हूं। ईश्वर पुण्य गतात्मा को आशीर्वाद दें। उनके शोकाकुल परिजनों और सहयोगियों के प्रति संवेदना व्यक्त करता हूं। मेरी विनम्र श्रद्धांजलि।
मोदी ने श्रीमती स्वराज के निधन पर गहरा शोक व्यक्त करते हुए कहा कि उनके निधन से भारतीय राजनीति के एक गौरवशाली अध्याय का अंत हो गया। उन्होंने कहा कि सुषमा स्वराज का निधन उनके लिए व्यक्तिगत क्षति है। उन्हें देश के लिए किए गए प्रत्येक कार्य के लिए हमेशा याद किया जाएगा। वे एक प्रखर वक्ता एवं उच्चकोटि की सांसद थीं जिन्हें दल गत राजनीति से उठकर सराहना मिली। उन्होंने भाजपा की विचारधारा और हितों के साथ कोई समझौता नहीं किया और पार्टी के विकास के लिए महत्वपूर्ण योगदान दिया।

केंद्रीय सूचना एवं प्रसारण मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने कहा कि सुषमा स्वराजजी के आकस्मिक निधन के समाचार से स्तब्ध हूं। एक ओजस्वी वक्ता और उत्कृष्ट नेता के रूप में वे हम सब के लिए प्रेरणा स्रोत थीं। उन्होंने विदेश मंत्रालय को आम आदमी से जोड़कर नई मिसाल कायम की। वे अंतिम सांस तक देश और देशवासियों की सेवा में समर्पित रहीं। मैं उन्हें भावभीनी श्रद्धांजलि देता हूं और इस कठिन समय में उनके परिवार को ईश्वर शक्ति दें इसकी प्रार्थना करता हूं। दिवंगत आत्मा को मेरा नमन। ओम शांति।'
केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने कहा कि पूर्व विदेश मंत्री और भाजपा की वरिष्ठ नेता व संसदीय बोर्ड की सदस्य सुषमा स्वराजजी के आकस्मिक निधन से मन अत्यंत दुखी है। उन्होंने एक प्रखर वक्ता, एक आदर्श कार्यकर्ता, लोकप्रिय जनप्रतिनिधि व एक कर्मठ मंत्री जैसे विभिन्न रूपों में भारतीय राजनीति में अपनी अमिट छाप छोड़ी है।

लोकसभा अध्यक्ष ओम बिड़ला ने कहा कि भारतीय राजनीतिक क्षितिज का चमकता हुआ सूर्य आज सुषमा स्वराज के रूप में अस्त हो गया है। वे एक कुशल प्रशासक और संवेदनशील राजनेता थी। वे एक ओजपूर्ण वक्ता के साथ ही शालीन एवं सजग व्यक्तित्व थीं। आज देश ने एक बहुमूल्य राजनेता को खो दिया है। एक सांसद के तौर पर सुषमाजी ने देश में नए प्रतिमान स्थापित किए। पक्ष-विपक्ष दोनों में ही उन्होंने सदैव देशहित को आगे रखा और उसे प्रखर अभिव्यक्ति दी| सुषमाजी की पुण्य स्मृति को नमन।
भारतीय जनता पार्टी के कार्यकारी अध्यक्ष जगतप्रकाश नड्डा ने कहा कि पूर्व विदेश मंत्री, वरिष्ठ नेत्री, दीदी सुषमा स्वराजजी के आकस्मिक निधन से मन अत्यंत पीड़ित है। उनका निधन भाजपा एवं देश की राजनीति के लिए एक अपूरणीय क्षति है। ईश्वर उनकी आत्मा को शांति प्रदान करें एवं शोकाकुल परिवार को दुःख सहने की शक्ति दे। ओम शांति।

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने श्रीमती स्वराज के निधन पर गहरा दु:ख जताते हुए कहा कि वे एक असाधारण राजनेता तथा विशिष्ट संसदविद के निधन की खबर सुनकर क्षुब्ध हैं। उन्होंने अपने ट्वीट में कहा कि मैं एक असाधारण राजनेता, महान वक्ता तथा एक विशिष्ट संसदविद के निधन की खबर सुनकर क्षुब्ध हूं। वे सभी दलों के नेताओं की मित्र थीं। दुख की इस घड़ी में पीड़ित परिवार के प्रति संवेदना व्यक्त करता हूं। भगवान उनकी आत्मा को शांति दे। ओम शांति।

 

और भी पढ़ें :