बुधवार, 24 अप्रैल 2024
  • Webdunia Deals
  1. समाचार
  2. मुख्य ख़बरें
  3. राष्ट्रीय
  4. Snowfall and cloudy weather in Himachal, coldest night of the season in Srinagar
Written By
Last Modified: बुधवार, 1 दिसंबर 2021 (13:36 IST)

Weather Update: हिमाचल में बर्फबारी और बादल छाए, श्रीनगर में मौसम की सबसे सर्द रात

Weather Update: हिमाचल में बर्फबारी और बादल छाए, श्रीनगर में मौसम की सबसे सर्द रात - Snowfall and cloudy weather in Himachal, coldest night of the season in Srinagar
नई दिल्ली। हिमाचल प्रदेश में जहां बर्फबारी और बारिश के कारण ठंड बढ़ गई है, वहीं जम्मू-कश्मीर के श्रीनगर में मंगलवार की रात मौसम की सबसे सर्द रही। आने वाले समय में मैदानी इलाकों में ठंड बढ़ सकती है। 
 
हिमाचल प्रदेश में बुधवार सुबह आसमान में काले बादल छाए रहे। वहीं, लाहुल और मनाली की पहाडिय़ों में हिमपात शुरू हो गया है। इसके बाद मौसम में ठंड बढ़ गई है और लाहुल घाटी में पर्यटकों को दारचा तक ही जाने की अनुमति दी गई है।
 
मौसम विभाग के पूर्वानुमान के मुताबिक 5 दिन प्रदेश के 5 जिलों लाहुल-स्पीति, किन्नौर, चंबा, कुल्लू व शिमला में आंधी के साथ भारी बर्फबारी की चेतावनी जारी की गई है। इन जिलों में बिजली आपूर्ति बाधित होने की आशंका भी जताई गई है। इसके अलावा ज्यादातर जिलों में आंधी और बारिश का यलो अलर्ट जारी किया गया है।
 
श्रीनगर में सबसे सर्द रात : दूसरी ओर, पूरे कश्मीर में न्यूनतम तापमान शून्य से नीचे दर्ज किया जा रहा है और श्रीनगर स्थित घाटी के विभिन्न केंद्रों के आंकड़ों के मुताबिक, मंगलवार की रात इस मौसम की सबसे सर्द रात रही। अधिकारियों ने बुधवार को यह जानकारी दी।
 
राजस्थान में छिटपुट बारिश : वहीं, राजस्थान के उदयपुर एवं आसपास के इलाकों में रिमझिम बारिश होने के बाद ठंड बढ़ गई। आसपास के इलाकों में बादल छाए हुए हैं। 
 
मौसम पूर्वानुमान : स्काईमेट के अनुसार अगले 24 घंटों के दौरान, अंडमान और निकोबार द्वीप समूह में भारी से बहुत भारी वर्षा की संभावना है। केरल, तमिलनाडु, कर्नाटक के कुछ हिस्सों, मध्य महाराष्ट्र, कोंकण और गोवा के शेष हिस्सों और सौराष्ट्र और कच्छ के कुछ हिस्सों और मध्य प्रदेश के पश्चिमी हिस्से में हल्की से मध्यम बारिश हो सकती है।
 
रायलसीमा, दक्षिणपूर्व राजस्थान और हिमाचल प्रदेश और उत्तराखंड के एक या दो हिस्सों में हल्की बारिश संभव है। गुजरात और महाराष्ट्र के तटीय भागों में तेज हवाएं चल सकती हैं तथा समुद्र में ऊंची लहरें उठ सकती हैं। हवाओं की रफ्तार 40 से 50 किलोमीटर प्रति घंटा हो सकती है। (फाइल फोटो)
ये भी पढ़ें
आंदोलन के दौरान किसानों की मौत पर सरकार का जवाब, आखिर क्या कहा कृषि मंत्री तोमर ने