बुधवार, 24 अप्रैल 2024
  • Webdunia Deals
  1. समाचार
  2. मुख्य ख़बरें
  3. राष्ट्रीय
  4. Handles related to farmer movement suspended
Last Updated : गुरुवार, 22 फ़रवरी 2024 (15:56 IST)

किसान आंदोलन से जुड़े हैंडल X ने किए सस्पेंड, दावा, भारत सरकार ने दिए थे आदेश

क्‍या सरकार के आदेश पर हैंडल हुए सस्‍पैंड?

किसान आंदोलन से जुड़े हैंडल X ने किए सस्पेंड, दावा, भारत सरकार ने दिए थे आदेश - Handles related to farmer movement suspended
Twitter account suspend : एलन मस्क के नेतृत्व वाले संगठन एक्स (ट्विटर का बदला हुआ नाम) ने गुरुवार को दावा किया कि भारत सरकार ने ‘कार्यकारी आदेश’ जारी किए हैं, जिसमें उन्होंने कहा है कि X को कुछ खातों और पोस्टों पर कार्रवाई करने की जरूरत है। जिसके बाद एक्स ने किसान आंदोलन से जुड़े कई हैंडल और संबंधित फैन पेज या अकाउंट्स को सस्पेंड किया है।
रिपोर्ट के मुताबिक सस्पेंड अकाउंट्स में कई प्रमुख किसान नेताओं और उनके समर्थन वाले एक्स खाते भी हैं। बताया जा रहा है कि इन अकाउंट्स के नाम सरकार ने दिए थे। केंद्र सरकार ने किसानों के 'दिल्ली चलो प्रदर्शन' से जुड़े मामले के बारे में ये कार्यकारी आदेश निकाला था।
हालांकि एक्स का कहना है कि, अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता की वजह से वह ऐसा नहीं करना चाहते हैं। वे इससे असहमत है। लेकिन फिर भी सरकार द्वारा बताए गए खातों को सस्पेंड कर दिया जाएगा। हालांकि केंद्र ने अभी तक आरोपों पर प्रतिक्रिया नहीं दी है।
कुछ अकाउंट्स को रोकने के लिए भारत सरकार के निर्देश पर एक बयान जारी करते हुए, माइक्रो-ब्लॉगिंग प्लेटफॉर्म एक्स ने कहा, "भारत सरकार ने कार्यकारी आदेश जारी किए हैं, जिसमें एक्स को कुछ खास अकाउंट्स और पोस्ट पर कार्रवाई करने को कहा गया है।

ऐसी कार्रवाई जो जुर्माना और कारावास सहित संभावित दंड के अधीन है।" एक्स ने आगे कहा, ''आदेशों के अनुपालन में, हम इन अकाउंट्स और पोस्टों को सिर्फ भारत में ही रोक देंगे। हालांकि, हम इन कार्रवाइयों से असहमत हैं और मानते हैं कि अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता इन पदों तक विस्तारित होनी चाहिए। हमारी स्थिति के मुताबिक, भारत सरकार के अवरुद्ध आदेशों को चुनौती देने वाली एक रिट अपील लंबित है। हमने प्रभावित उपयोगकर्ताओं को हमारी नीतियों के अनुसार इन कार्रवाइयों की सूचना भी दे दी है।''
Edited by Navin Rangiyal
ये भी पढ़ें
स्कूलों पर बर्फबारी का कहर, डोडा में छुट्‍टी, क्या है कुपवाड़ा का हाल?