Google ने play billing से जुड़ने के लिए भारतीय स्टार्टअप को मार्च 2022 तक का दिया समय

Last Updated: सोमवार, 5 अक्टूबर 2020 (16:40 IST)
नई दिल्ली। इंटरनेट उत्पाद एवं सेवाएं देने वाली कंपनी ने सोमवार को कहा कि भारतीय ऐप डेवलपर्स के लिए उसकी प्रणाली से जुड़ने के लिए समयसीमा को 6 माह बढ़ाकर 31 मार्च 2022 कर दिया गया है।गूगल की तरफ से यह पहल ऐसे समय की गई है, जब कई भारतीय उद्यमों और ने गूगल प्ले की बिल प्रणाली को लेकर चिंता जताई है।
ALSO READ:
गूगल प्ले स्टोर में Paytm की वापसी, जानिए किस कारण कुछ घंटों तक गायब रहा ऐप
उनका कहना है कि प्रौद्योगिकी क्षेत्र की प्रमुख कंपनी भारतीय ऐप डेवलपर, उनके मालिकों को कोई भी डिजिटल सर्विसेज बेचने के लिए अनिवार्य रूप से गूगल प्ले की बिलिंग प्रणाली का इस्तेमाल करने के लिए दबाव नहीं डाल सकती है। यहां यह देखना रुचिकर है कि इस बीच पेटीएम ने अपने एंड्रॉयड मिनी एप स्टोर को शुरू करने की घोषणा की है। इससे को समर्थन मिलेगा। पेटीएम की इस क्षेत्र में गूगल पे के साथ प्रतिस्पर्धा है।
गूगल ने कहा है कि हम भारत स्थित ऐप डेवलपर्स के लिए प्ले बिलिंग प्रणाली से जुड़ने की समयसीमा को बढ़ा रहे हैं। इससे यह सुनिश्चित हो सकेगा कि उन्हें यूपीआई को भुगतान विकल्प के तौर पर गूगल प्ले पर उपलब्ध कराने के लिए पूरा समय मिल सकेगा। वर्तमान में जितने भी एप भुगतान के लिए वैकल्पिक प्रणाली का इस्तेमाल करते हैं, उनके लिए गूगल प्ले से जुड़ने के लिए 31 मार्च 2022 तक की समयसीमा तय की जाती है।
गूगल ने इससे पहले उसके प्ले स्टोर के जरिए डिजिटल सामग्री बेचने वाली ऐप से कहा था कि उन्हें बिक्री के लिए गूगल प्ले बिलिंग प्रणाली का इस्तेमाल करना होगा और उसमें कुछ प्रतिशत फीस के तौर पर उसे देना होगा। इस संबंध में जरूरी प्रक्रिया को पूरा करने के लिए उसने 30 सितंबर 2021 तक का समय दिया था। इस समयसीमा को अब बढ़ाकर मार्च 2022 तक कर दिया गया है। (भाषा)



और भी पढ़ें :