0

Motivation Tips : समय की कीमत क्यों समझें?

सोमवार,जुलाई 26, 2021
0
1
आपकी चाहता आपकी खुशी से जुड़ी है। आपकी खुशी या प्रसन्नता से ही आपकी चाहता या इच्छा पूर्ण होती है। आपको यह रहस्य समझना चाहिए। यदि आप यह समझ गए तो सफल हो जाएंगे।
1
2
भारत में प्रेरक कहानियों के मामले में जातक कथा, पंचतंत्र, तेनालीराम, बेताल पच्चीसी, बिक्रम वेताल, सिंहासन बत्तीसी आदि कई प्रेरक कहानी संग्रह मौजूद हैं। उन्हीं में से एक कहानी यहां प्रस्तुत है।
2
3
यह कहानी कई जगह पढ़ने को मिलती है। जिसने भी यह कहानी लिखी है बहुत ही सुंदर है। आओ जानते हैं कि आखिर यह प्रेरणादायक कहानी से हमें क्या सीख मिलती है।
3
4

Motivational Story : ईश्वर बचाएगा

रविवार,जुलाई 18, 2021
ओशो रजनीश अपने प्रवचनों में प्रेरक कहानियां सुनाते रहते हैं। एक बार उन्होंने एक साधु की कहानी सुनाई जो बड़ी ही मजेदार है। आप भी इस कहानी को पढ़ें। एक बार की बात है कि एक गांव में एक संत रहता था जो ईश्वर का बहुत बडा भक्त था और वह रोज उनका ध्यान करता, ...
4
5
एक शाम एक सम्राट अपने महल में प्रवेश कर रहा था तो उनने देखा की बड़े से द्वार पर एक बूढ़ा प्रहरी खड़ा है और पुरानी तथा पतली सी वर्दी उसने पहन रखी है और वह भी सर्दी के दिन में।
5
6
हर कोई जल्दी से जल्दी सक्सेस होना चाहता है परंतु वह ऐसा कर पाने में सक्षम नहीं हो पाता है तो इसके कुछ कारण हो सकते हैं। यदि आपको सफलता नहीं मिल रही है तो कहीं ना कहीं आप गलत दिशा में प्रयास कर रहे होंगे। आओ जानते हैं जल्दी से सक्सेस होने के 10
6
7
कोरोना की पहली के बाद दूसरी लहर ने कई लोगों को चपेट में लिया और वे मृत्यु का ग्रास बन गए। हालांकि लाखों लोग ठीक होकर घर भी चले गए है। अब करोना की लहर धीमी हो रही है। अधिकतर लोगों को वैक्सीन का पहला डोज लग गया है और अब लोग भी समझने लगे हैं कि मास्क ...
7
8
ओशो रजनीश अपने प्रवचनों में कई कहानियां सुनाते थे। एक बार ओशो रजनीश ने अपने किसी प्रवचन में बहुत अच्छी कहानी सुनाई थी। आजा हम पढ़ते हैं उस प्रेरक कहानी को।
8
9
प्रेरक उद्धरण या अनमोल वचन हमें बहुत ही प्रेरित करते हैं। यदि आपको जिंदगी में आगे बढ़ना है तो ऐसे वचनों को बार-बार पढ़ते रहना चाहिए जो आपका मोटिवेशन करते रहते हैं।
9
10
एक शहर में बहुत ही प्रसिद्ध चित्रकार रहता है। दूर दूर तक उसकी ख्याति थी। लोग उसके चित्रों की बहुत तारीफ करते थे। एक दिन उसने बहुत ही सुंदर चित्र बनाया और उसे सुबह एक चौराहे पर टांग दिया और नीचे दूसरी तख्‍ती पर लिख दिया कि जिस किसी को भी इस चित्र में ...
10
11
मनुष्‍य के लिए बोलना प्रकृति का वरदान है। भाषा के विकास के साथ ही मनुष्य का बोलना बढ़ा है। बोलने के बढ़ने के साथ ही सोचना और समझना भी बढ़ा है। इसी से हमारे भीतर अच्छे और बुरे भावों का विकास भी हुआ। आओ जानते हैं बोलने, सुनने, सोचने, समझने से उपजे ...
11
12
महाभारत में भीष्म पितामह ने कहा था युधिष्‍ठिर से कि दीर्घसूत्रा मनुष्य का जीवन नष्ट ही समझो। अकर्मण्य, आलसी और भाग्य के भरोसे रहने वाला मनुष्य जीवन में कभी कुछ नहीं कर पाता है। इसीलिए कहते हैं कि काल करे सो आज कर, आज करे सो अब। पल में प्रलय होएगी, ...
12
13
मैंने सुना है कि एक बार चीन के एक सम्राट ने अपने प्रधानमंत्री को फांसी की सजा दे दी। जिस दिन प्रधानमंत्री को फांसी दी जाने वाली थी, सम्राट उससे मिलने आया, उसे अंतिम विदा कहने आया। वह उसका बहुत वर्षों तक वफादार सेवक रहा था, लेकिन उसने कुछ किया था, ...
13
14
जिंदगी कितनी खूबसूरत है यह तब पता चलता है जबकि हम आंखें खोलकर जीना प्रारंभ कर देते हैं। कई लोग बेहोशी में ही जी रहे हैं और कब जवानी गुजर गई पता ही नहीं चलता है। किसी भी कारणवश आपकी जीने की चाह खत्म हो गई है तो आप ऐसे 10 कार्य करें जिससे आपकी जीने की ...
14
15
ओशो रजनीश अपनी कहानियों के माध्यम से लोगों को अपनी बातें समझाते हैं। उनकी कहानियों बड़ी ही रोचक और अपने तरीके से गढ़ी गई होती है। उनकी कहानियों के खजाने में से एक कहानी सोलन की पढ़ते हैं जो आपको प्रेरित करेगी।
15
16
1981 के आसपास लिखी गई इस किताब में एक संक्रमण का जिक्र है और इसे वुहान 400 का ही नाम दिया गया है। यानी आज से करीब 40 साल पहले उस वायरस के बारे में लिए किताब में जिक्र कर दिया गया था। एक अमेरिकी की यह कृति शुरु तो एक ऐसी मां से होती है जो अपने बच्चे ...
16
17
जातक कथाएं गौतम बुद्‍ध के पिछले जन्मों की कहानियां हैं। जातक कथाओं में गौतम बुद्ध के लगभग 549 पूर्व जन्मों का वर्णन मिलता है। आओ जानते हैं इन्हीं कथाओं में से एक छहदंत की कहानी।
17
18
जिंदगी जीने का हौसला और उत्साह होना जरूरी है। कोरोना वायरस के चलते कई लोगों की जिंदगी उजड़ गई है तो कई लोग जीवन से संघर्ष कर रहे हैं। कई लोग हौसला हार गए हैं तो कई लोगों की जिंदगी में यह काल अवसर की तरह आया और वे जीत गए। आपको हम बताना चाहते हैं कि ...
18
19
एक सरोवर में कई मेंढक रहते थे। उस सरोवर के माध्य में वहां के राजा ने एक लोहे का स्तंभ लगा रखा था। एक दिन सभी मेंढकों ने तय किया कि क्यों ना इस स्तंभ पर चढ़ने की प्रतियोगिता रखी जाए। क्यों‍न रेस लगाई जाए। जो भी सबसे पहले इस पर चढ़ जाएगा यह विजेता ...
19