मंगलवार, 23 अप्रैल 2024
  • Webdunia Deals
  1. समाचार
  2. मुख्य ख़बरें
  3. मध्यप्रदेश
  4. Shivraj Singh Chouhan scolds BJP leaders
Last Modified: मंगलवार, 9 जनवरी 2024 (12:02 IST)

मुख्यमंत्री पद से हटने के बाद BJP में हो रही अनदेखी पर दुखी शिवराज सिंह चौहान!

मुख्यमंत्री पद से हटने के बाद BJP में हो रही अनदेखी पर दुखी शिवराज सिंह चौहान! - Shivraj Singh Chouhan scolds BJP leaders
भोपाल। मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान पार्टी में अपनी अनदेखी पर करार तंज कसा है। राजधानी भोपाल में एक कार्यक्रम को संबोधित करते हुए शिवराज ने कहा कि  कई लोग ऐसे होते हैं जो रंग देखते हैं। मुख्यमंत्री हैं तो बोलेंगे भाई साहब आपके चरण तो कमल के समान हैं, कर कमल हो जाते है, चरण कमल हो जाते है।  कुर्सी से हटे तो होर्डिंग से फोटो ऐसे गायब करते हैं जैसे गधे के सिर से सींग।

गौरतलब है कि भोपाल में नई सरकार की तस्वीर साफ होते ही राजधानी में भाजपा दफ्तर के साथ चार इमली क्षेत्र में लगे होर्डिंग में से शिवराज की तस्वीर गायब हो गई थी। इसमें एक होर्डिंग तो एक डिप्टी सीएम का स्वागत करते हुए उनके समर्थकों ने लगाई थी जिसमें पार्टी के अन्य सभी नेता थे लेकिन शिवराज की फोटो नदारद थी।

ऐसा नहीं मुख्यमंत्री नहीं बन पाने और पार्टी में अपनी हुई अनदेखी की टीस शिवराज ने पहली बार प्रकट की है। इससे पहले बुधनी में एक कार्यक्रम को संबोधित करते हुए शिवराज ने कहा था कि कई बार  राजतिलक होते-होते वनवास भी हो जाता है,लेकिन वह किसी न किसी उद्देश्य की पूर्ति के लिए होता है। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री का पद तो आ जा सकता है, लेकिन मामा और भाई का पद कभी कोई नहीं छीन सकता है। मामा आपके बीच ही रहेगा, यहां से कहीं नहीं जाएगा।

वहीं  मुख्यमंत्री पद छोड़ने के बाद बुधनी पहुंचे पूर्व मुख्यमंत्री से एक बार फिर महिलाएं गले से लिपटकर रोने लगी। इस दौरान शिवराज ने महिलाओं को ढांढस बंधाते हुए कहा कि वह उनके बीच ही रहेंगे और सरकार कोई भी योजना बंद नहीं करेगी। पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा कि मैं बहुत गंभीरता से कह रहा हूं कि तुम्हें छोड़कर कभी नहीं जाऊंगा। क्या इतने छोटे बच्चे कभी सभा में आते हैं। ये अपने मामा  लिए आते हैं। बहनों की योजनाएं भी जारी रहेगी और भांजे-भांजियों के कल्याण में भी कोई कसर नहीं रहेगी। शिवराज ने कहा कि लाड़ली बहना के लिए हमने जो कहा है, वह हम करेंगे, सरकार भाजपा की है, कांग्रेस की थोड़े ही है।

वहीं मुख्यमंत्री पद से हटने के बाद राजधानी भोपाल के 74 बंगले स्थित B-8 बंगले में शिफ्ट में हुए शिवराज ने अपने घर का नाम ‘मामा का घर’ रख लिया है। जहां पर वह लगातार लोगों से मिल रहे है। अपने बंगले का नाम ‘मामा का घर’ रखने का कारण बताते हुए शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि “पूरा प्रदेश मेरा परिवार है और परिवार के रिश्ते पदों से नहीं होते, वो दिल के रिश्ते होते हैं, आत्मा के रिश्ते होते हैं और दिल और आत्मा के रिश्ते पदों के साथ बदलते नहीं है। इसलिए भाई और बहन, भांजे- भांजियों से मेरा प्यार और विश्वास का रिश्ता है। इस रिश्ते की डोर कभी टूटेगी नहीं..!”

वहीं सोमवार को मुख्यमंत्री डॉ. मोहन यादव से मुलाकात के बाद  पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि मुझे खुशी है कि सभी योजनाएं जारी रहेंगी और 10 तारीख को फिर से लाड़ली बहनों के खातो में पैसा आएगा। हमारा संकल्प ये भी है कि लाड़ली बहनों को लखपति बहना बनाना हैं, ये केवल कहने के लिए नहीं है उसके लिए मैं निरंतर काम करूंगा।

ये भी पढ़ें
मुश्किल में मालदीव के राष्ट्रपति मुइज्जू, क्या संकट में है कुर्सी?