महंगाई के खिलाफ कांग्रेस का मध्यप्रदेश बंद, कैसा रहा असर...

Last Updated: शनिवार, 20 फ़रवरी 2021 (12:38 IST)
भोपाल। पेट्रोलियम पदार्थों की कीमतों में बेतहाशा वृद्धि के विरोध में आज शनिवार को की ओर से आयोजित बंद का राजधानी भोपाल समेत प्रदेश में आंशिक असर होने की सूचनाएं मिली हैं।
इंदौर, ग्वालियर, जबलपुर, रीवा, सागर, उज्जैन, खंडवा, होशंगाबाद और अन्य स्थानों से प्राप्त सूचनाओं के अनुसार अनेक स्थानों पर कांग्रेस कार्यकर्ताओं की टोलियां घूम रही हैं और वे दुकानें और व्यावसायिक प्रतिष्ठान बंद कराने का अनुरोध करते हुए देखे गए। हालांकि पुलिस प्रशासन ने भी सुरक्षा के आवश्यक इंतजाम किए हुए हैं। अधिकांश दुकानें प्रतिदिन की तरह खुली हुई ही नजर आईं।
राजधानी भोपाल में भोपाल में बंद का खासा असर रहा और प्रमुख बाजारों में दुकानें नहीं खुली।विभिन्न स्थानों पर कांग्रेस कार्यकर्ताओं की टोलियां घूमते हुए देखी गईं। पूर्व मंत्री पीसी शर्मा को पुलिस प्रशासन ने ऐहतियात के तौर पर हिरासत में ले लिया है। वे भी अपने समर्थकों के साथ दुकानें बंद करवाने निकले थे।

इंदौर में 10 बजे बाद खुली दुकानों को बंद करवाने कांग्रेसी मैदान में उतरे। पूर्व मंत्री जीतू पटवारी साइकल से निकले और हाथ जोड़कर लोगों ने दुकान बंद करने का आग्रह किया। विरोधस्वरूप रीगल पर क्रिकेट खेलते हुए कांग्रेसियों ने प्रधानमंत्री मोदी का मुखौटा लगाकर बाइक को रस्सी से बांधकर सड़क पर खींचा। पेट्रोल पंप भी एहतियात के तौर पर सुबह 9 बजे बंद कर दिए गए थे।
प्रदेश कांग्रेस ने दिन में 2 बजे तक बंद का आह्वान राज्य के नागरिकों से किया है। प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ ने शुक्रवार को यहां नागरिकों से अपील में कहा था कि वे पेट्रोलियम पदार्थों की कीमतों में वृद्धि के खिलाफ अपने व्यावसायिक प्रतिष्ठान बंद रखें और कोशिश करें कि दिन में 2 बजे तक अपने वाहन भी नहीं निकालना पड़ें।



और भी पढ़ें :