16 मई को है चंद्र ग्रहण, भारत में असर नहीं पर 5 चंद्र मंत्र और गंगाजल का यह प्रयोग जरूर करें

Chandra Grahan 2021
Chandra Grahan 2022
पुनः संशोधित शनिवार, 14 मई 2022 (18:16 IST)
हमें फॉलो करें
Chandra Grahan 2022: का पहला चंद्रग्रहण 16 मई 2022 सोमवार को लगने वाला है। इस ग्रहण चो ब्लड चंद्रग्रहण कहा जा रहा है जो कि पूर्ण चंद्रग्रहण होगा। यह ग्रहण भारत में नहीं दिखाई देगा। इसीलिए इसका असर भी नहीं होगा और न ही इसका सूतककाल मान्य होगा। फिर भी इस दिन 5 चंद्र मंत्र और गंगाजल का यह प्रयोग करके आप कई तरह की मुसीबतों से बच सकते हैं।


चंद्र के 5 मंत्र- chandra mantra :

1. ॐ चं चंद्रमस्यै नम:

2. दधिशंखतुषाराभं क्षीरोदार्णव सम्भवम ।
नमामि शशिनं सोमं शंभोर्मुकुट भूषणं ।।

3. ॐ श्रां श्रीं श्रौं स: चन्द्रमसे नम:।।

4. ॐ ऐं क्लीं सोमाय नम:।
5. ॐ भूर्भुव: स्व: अमृतांगाय विद्महे कलारूपाय धीमहि तन्नो सोमो प्रचोदयात्।
Chandra Grahan 2022
गंगाजल का प्रयोग- Gangajan :
1. चंद्र ग्रहण के बाद गंगाजल से स्नान करना चाहिए। शुद्ध जल में थोड़ा सा गंगाजल मिलाकर भी स्नान कर सकते हैं।
2. ग्रहण के बाद पूरे घर में गंगाजल छिड़कने से घर शुद्ध और पवित्र हो जाता है।

3. गंगाजल को चरणामृत की तरह उपयग किया जाता है।




और भी पढ़ें :