इस बार 255 करोड़पति महिलाएं चुनाव मैदान में, सबसे अधिक 83 फीसदी भाजपा में

पुनः संशोधित शुक्रवार, 17 मई 2019 (18:24 IST)
कोलकाता। 17वीं में उतरीं 716 महिला प्रत्याशियों में से लगभग 36 फीसदी यानी 255 महिलाएं 1 करोड़ रुपए या उससे अधिक संपत्ति की मालकिन हैं।
एसोसिएशन ऑफ डेमोक्रेटिक रिफॉर्म्स (एडीआर) ने शुक्रवार को बताया कि लोकसभा चुनाव में उतरीं 724 महिला उम्मीदवारों में से 716 ने अपने शपथ पत्रों में संपत्तियों का विवरण दिया जिसमें 225 उम्मीदवारों के पास 1 करोड़ अथवा उससे अधिक संपत्ति का पता चला है। पिछली बार के आम चुनाव की तुलना में इस बार करोड़पित महिला उम्मीदवारों की संख्या अधिक है।

उन्होंने कहा कि चुनावी मैदान में उतरीं 716 महिला उम्मीदवारों में से 255 उम्मीदवार यानी 36 फीसदी करोड़पति हैं। वर्ष 2014 आम चुनाव के दौरान 665 महिला उम्मीदवारों में से 219 यानी 33 फीसदी महिला उम्मीदवार करोड़पति थीं।
उन्होंने बताया चुनाव मैदान में उतरी के 54 महिला उम्मीदवारों में से 44 (82 फीसदी), भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) की 53 में से 44 (83 फीसदी), तृणमूल कांग्रेस की 23 महिला उम्मीदवारों में से 15 (65 फीसदी), बहुजन समाज पार्टी की 24 में से 9 (38 फीसदी) और 222 निर्दलीय में से 43 (19 फीसदी) ने अपनी संपत्ति 1 करोड़ या उससे अधिक घोषित की है।
लोकसभा चुनाव 2019 में चुनाव लड़ने वाली प्रति महिला उम्मीदवार की औसत संपत्ति 5.63 करोड़ रुपए है जबकि वर्ष 2014 में लोकसभा चुनाव में चुनाव लड़ने वाली प्रति महिला उम्मीदवारों की औसत संपत्ति 10.62 करोड़ रुपए थी।

प्रमुख दलों में कांग्रेस की 54 महिला उम्मीदवारों की औसत संपत्ति 18.84 करोड़ रुपए, भाजपा की 53 महिला उम्मीदवारों की औसत संपत्ति 22.09 करोड़ रुपए, बसपा की 24 महिला उम्मीदवारों की औसत संपत्ति 3.03 करोड़ रुपए, तृणमूल कांग्रेस की 23 महिला प्रत्याशियों की औसत संपत्ति 2.67 करोड़ रुपए है।
मार्क्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी की 10 महिला प्रत्याशियों की औसत संपत्ति 1.33 करोड़, समाजवादी पार्टी की 6 महिला उम्मीदवारों की औसत संपत्ति 39.85 करोड़, आम आदमी पार्टी की 3 महिला प्रत्याशियों की औसत संपत्ति 2.92 करोड़ और निर्दलीय 222 महिला उम्मीदवारों की औसत संपत्ति 1.63 करोड़ रुपए है। उन्होंने बताया कि 8 महिला उम्मीदवारों ने शपथ पत्रों में अपनी संपत्ति शून्य दर्शाई है। (वार्ता)

 

और भी पढ़ें :